inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड गढ़वाल देहरादून-108 एंबुलेंस कर्मियों का फूटा गुस्सा, फिर ऐसी हुई कर्मचारियों और पुलिसकर्मियों...

देहरादून-108 एंबुलेंस कर्मियों का फूटा गुस्सा, फिर ऐसी हुई कर्मचारियों और पुलिसकर्मियों की झड़प

देहरादून- देहरादूनवासियों को मुख्यमंत्री कल देंगे सूर्यधार का तोहफा, पढिय़े क्या है इस झील की खासियत

देहरहादून-त्रिवेन्द्र सरकार प्रदेश में लगातार विकास गति को बढ़ाने के काम में जुटी है। पहले डोबराचांठी, जानकी सेतु और अब सूर्यधार। विकास की इबारत...

देहरादून- उत्तराखंड पहुंचे भाजपा प्रदेश प्रभारी और सह प्रभारी, इन मुद्दों पर करेगें चर्चा

देहरादून-आज भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम और सह प्रभारी रेखा वर्मा उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे। इस दौरान प्रदेश भाजपा...

देहरादून-कोविड-19 को लेकर सख्त हुए सीएम, जिलाधिकारियों को दिये ये निर्देश

देहरादून-आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सचिवालय परिसर में शासन के उच्चाधिकारियों एवं जिलाधिकारियों के साथ प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की।...

हरिद्वार-29 और 30 नवंबर को जिले की सीमाएं सील, इसलिए उठाया ये बड़ा कदम

हरिद्वार-कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार फिर सख्ती बरतने लगी है। ऐसे में कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर रोक लगने पर श्रद्धालुओं...

ऋषिकेश- राज्यपाल बेबी रानी मौर्य की एम्स से छुट्टी, लेकिन यहां रहेंगी आइसोलेट

ऋषिकेश- विगत दिनों कोरोना पॉजिटिव निकली राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को एम्स से छुट्टी दे दी गई है। जिसके बाद वह राजभवन के लिए...

देहरादून-प्रदेश में एक तरफ बेरोजगार आंदोलन कर रहे है तो दूसरी तरफ सरकारी कर्मचारी। हर तरफ धरना-प्रदर्शन का माहौल है। लंबे समय से धरने पर बैठे 108 एंबुलेंस सेवा कर्मियों का आज गुस्सा फूट गया। आज कर्मचारियों ने सचिवालय में कूच करने निकले तो पुलिस ने उन्हें बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया। इस बीच कर्मचारियों और पुलिस में झड़प हुई।
कर्मचारियों की मांग है कि उन्हें नई कंपनी कैंप में समायोजित किया जाए। उन्हें पहले के बराबर वेतन दिया जाय। पहले वह जहां तैनात थे वहीं तैनाती दी जाय। नई कंपनी में अनुभवहीन कर्मचारियों को भर्ती न किया जाए। नई कंपनी के साथ भी पहले के जैसा ही अनुबंध किया जाए।

108 Dharn pradshan

मांगे पूरी ने होने पर गुस्साएं कर्मी

लेकिन पुलिस द्वारा रोके जाने पर कर्मचारियो ने मुख्यमंत्री मुर्दाबाद के नारे लगाए। इस बीच हंगामे के बाद पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया लेकिन वह भाग निकले। अब पुलिस कर्मचारियों को पकडक़र दोबारा हिरासत में लेने की तैयारी में है। गौरतलब है कि उत्तराखंड में 108 सेवा के पूर्व कर्मचारियों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविद को ज्ञापन भेजकर इच्छा मृत्यु देने की मांग की थी। उन्होंने कहा कि 11 वर्ष की सेवा के बाद उन्हें हटा दिया गया। पिछले कई दिनों के आंदोलन के बावजूद सरकार उनके समायोजन में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रही है।

Related News

देहरादून- देहरादूनवासियों को मुख्यमंत्री कल देंगे सूर्यधार का तोहफा, पढिय़े क्या है इस झील की खासियत

देहरहादून-त्रिवेन्द्र सरकार प्रदेश में लगातार विकास गति को बढ़ाने के काम में जुटी है। पहले डोबराचांठी, जानकी सेतु और अब सूर्यधार। विकास की इबारत...

देहरादून- उत्तराखंड पहुंचे भाजपा प्रदेश प्रभारी और सह प्रभारी, इन मुद्दों पर करेगें चर्चा

देहरादून-आज भाजपा के नवनियुक्त प्रदेश प्रभारी दुष्यंत गौतम और सह प्रभारी रेखा वर्मा उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे। इस दौरान प्रदेश भाजपा...

देहरादून-कोविड-19 को लेकर सख्त हुए सीएम, जिलाधिकारियों को दिये ये निर्देश

देहरादून-आज मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सचिवालय परिसर में शासन के उच्चाधिकारियों एवं जिलाधिकारियों के साथ प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की।...

हरिद्वार-29 और 30 नवंबर को जिले की सीमाएं सील, इसलिए उठाया ये बड़ा कदम

हरिद्वार-कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार फिर सख्ती बरतने लगी है। ऐसे में कार्तिक पूर्णिमा स्नान पर रोक लगने पर श्रद्धालुओं...

ऋषिकेश- राज्यपाल बेबी रानी मौर्य की एम्स से छुट्टी, लेकिन यहां रहेंगी आइसोलेट

ऋषिकेश- विगत दिनों कोरोना पॉजिटिव निकली राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को एम्स से छुट्टी दे दी गई है। जिसके बाद वह राजभवन के लिए...

कोटद्वार-घर पहुंचा शहीद स्वतंत्र सिंह का पार्थिव शरीर, बेटे का चेहरा देख बेसुध हुई मां

कोटद्वार-गुरुवार को पाकिस्तानी सेना ने पूंछ जिले में नियंत्रण रेखा से सटे दिगवार और केरन सेक्टर में गोलाबारी की थी। इस दौरान 16 गढ़वाल...