inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश Cyber ​​Crime: कहीं आप तो नहीं कर रहे इस एप का इस्‍तेमाल,...

Cyber ​​Crime: कहीं आप तो नहीं कर रहे इस एप का इस्‍तेमाल, ट्रूकॉलर पर करोड़ो भारतीयों का डाटा हुआ हैक

शौंचालय निर्माण में नहीं हो रहा मानक कै अनुरुप सामग्री का प्रयोग

पीलीभीतःशौचालय निर्माण में मानक के अनुरुप सामग्री  प्रयोग नहीं किए जाने से ग्रामीणों  में काफी रोष है ।थाना हजारा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम शास्त्री...

ऑल इंडिया कल्चर एसोसिएशन द्वारा बैठक का आयोजन

बरेली l कौमी एकता सप्ताह छठा दिन 24 नवम्बर आल इण्डिया कल्चरल एसोसिएशन ( ऐका ) बरेली द्वारा मनाये जा रहे कौमी एकता सप्ताह...

शिक्षक एमएलसी चुनाव मतदाता सम्मेलन

बरेली l भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ हरी सिंह ढिल्लों के समर्थन में भाजपा महानगर द्वारा मतदाता सम्मेलन का आयोजन संगम पैलेस कुदेशिया...

तहसील से घर लौट रहे 28 वर्षीय प्राइवेट कर्मचारी की चाकु से गोदकर हत्या,जांच में जुटी पुलिस

बरेलीःतहसील से घर लौट रहे एक प्राइवेट कर्मचारी की हत्यारो ने चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। हत्यारो ने कर्मचारी के शव को गन्ने...

प्रॉपर्टी डीलर ने अपने पूरे परिवार को कुल्हाड़ी से काट डाला

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। पंजाब के लुधियाना से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां के हंबड़ा रोड स्थित मयूर विहार में एक व्यक्ति...

दुनिया भर में तकनीक बढ़ने के साथ ही साइबर अपराध (Cyber ​​Crime) भी बढ़ रहे हैं। साइबर इंटेलिजेंस फॉर्म साइबल (Cyber ​​Intelligence form Sible) ने बताया है कि अज्ञात नंबर की पहचान बताने वाले ट्रूकॉलर एप (Truecaller App) के 4.75 करोड़ भारतीय यूजर्स का डाटा हैक (Data Hack) किया है और इसे मात्र 75 हजार रुपये में बेचा जा रहा है। इस बारे में ट्रूकॉलर के प्रवक्ता ने कहा कि एप के डाटाबेस (Database) में किसी प्रकार की चोरी नहीं हुई है। कंपनी के नाम से किसी और डाटाबेस को बेचा जा रहा है, ताकि इस पर विश्वास हो सके।

Truecallerइंटेलिजेंस फॉर्म साइबल ने अपने ब्लॉग में बताया है कि 2019 का यह डाटा एक विश्वसनीय विक्रेता की पहचान की है। जो यह डाटाबेस बेच रहा है। इस डाटाबेस में मोबाइल नंबर, लिंग, शहर, मोबाइल नेटवर्क और फेसबुक आईडी तक शामिल है। शोधकर्ताओं (Researchers) का मानना है कि इतने बड़े डाटा का बड़े पैमाने पर प्रभाव पड़ सकता है। वहीं ट्रूकॉलर के प्रवक्ता ने कहा कि वर्ष 2019 में भी डाटा बिक्री की अफवाह उड़ी थी। उन्होंने कहा कि हमारे यूजर्स की जानकारी पूरी तरह सुरक्षित है। हमारी ओर से इस प्रकार की किसी भी संदिग्ध गतिविधि (suspicious activity) की पूरी तरह निगरानी की जाती है। पिछले हफ्ते साइबल ने वर्ष 2019 में 2.9 करोड़ भारतीय यूजर्स (Indian users) का निजी डेटा लीक होने की बात कही थी।

Related News

शौंचालय निर्माण में नहीं हो रहा मानक कै अनुरुप सामग्री का प्रयोग

पीलीभीतःशौचालय निर्माण में मानक के अनुरुप सामग्री  प्रयोग नहीं किए जाने से ग्रामीणों  में काफी रोष है ।थाना हजारा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम शास्त्री...

ऑल इंडिया कल्चर एसोसिएशन द्वारा बैठक का आयोजन

बरेली l कौमी एकता सप्ताह छठा दिन 24 नवम्बर आल इण्डिया कल्चरल एसोसिएशन ( ऐका ) बरेली द्वारा मनाये जा रहे कौमी एकता सप्ताह...

शिक्षक एमएलसी चुनाव मतदाता सम्मेलन

बरेली l भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी डॉ हरी सिंह ढिल्लों के समर्थन में भाजपा महानगर द्वारा मतदाता सम्मेलन का आयोजन संगम पैलेस कुदेशिया...

तहसील से घर लौट रहे 28 वर्षीय प्राइवेट कर्मचारी की चाकु से गोदकर हत्या,जांच में जुटी पुलिस

बरेलीःतहसील से घर लौट रहे एक प्राइवेट कर्मचारी की हत्यारो ने चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। हत्यारो ने कर्मचारी के शव को गन्ने...

प्रॉपर्टी डीलर ने अपने पूरे परिवार को कुल्हाड़ी से काट डाला

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। पंजाब के लुधियाना से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां के हंबड़ा रोड स्थित मयूर विहार में एक व्यक्ति...

कोरोना काल में एनीमिया से बचाव बेहद जरूरी खानपान का रखें विशेष ध्यान

सीतापुुुरः कोरोना काल में इस बात पर विशेष जोर दिया जा रहा है कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होनी चाहिए। आज की...