Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश COVID-19 Test: अब बरेली के इस संस्थान में भी करवा सकेंगे कोरोना...

COVID-19 Test: अब बरेली के इस संस्थान में भी करवा सकेंगे कोरोना वायरस की जांच

भारत सरकार के एक सर्वेक्षण में हुआ अहम खुलासा, देश के लगभग इतने बच्चों को है नशे की लत

भारत सरकार (Government of India) के एक सर्वेक्षण में बहुत ही अहम खुलासा हुआ है। देश में बच्चों में नशे की लत एक अहम...

एनसीबी ने दीपिका, श्रद्धा, सारा समेत इन लोगों के मोबाइल फोन किए जब्त, खंगाली जाएगी ड्रग्स चैट

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) से जुड़े ड्रग्स मामले में एनसीबी (NCB) ने शनिवार को दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और...

‘मन की बात’ कार्यक्रम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं देश को संबोधित, जानिए प्रधानमंत्री ने क्या-क्या कहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज यानी रविवार को अपना 69वां मासिक रेडियो प्रोग्राम 'मन की बात' (Maan Ki Baat) करेंगे। प्रधानमंत्री का...

अयोध्या में दीप महोत्सव को लेकर योगी सरकार कर रही है जोरों से तैयारी, इस बार ऐसे मनाया जाएगा दीप महोत्सव

कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के चलते दीपोत्सव (Deepotsav) को लेकर दिक्कतें सामने आ रही हैं। अधिकतम दीप प्रज्वलन की वर्चुअल प्रतियोगिता (Virtual Competition) l...

बरेली की राजनीति के पुरोधा राजेश अग्रवाल को दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के संगठन में मिली अहम् जिम्मेदारी

बात अगर बरेली की राजनीती की हो और राजेश अग्रवाल का नाम न आये ऐसा तो हो ही नहीं सकता , रुहेलखंड में भाजपा...

भारत में कोरोना के मरीजों का जल्दी न पता लगा पाने का एक मुख्य कारण यह भी है की देश में इसकी जांच की लैब की कमी होना। इसके लिए बरेली के आईवीआरआई (IVRI) में कोरोना वायरस जांच (corona virus test) के लिए लैब बनाई गई है। साथ ही आईवीआरआई ने भोपाल, हिसार और बेंगलुरु (Bhopal, Hisar and Bengaluru) में भी इसकी जांच के लिए लैब बनाई हैं। अब इन जगहों पर लोग जरूरत पड़ने पर कोरोना संक्रमण की जांच करा सकेंगे। आईवीआरआई में लैब का निर्माण आईसीएआर (ICAR) ने केंद्र सरकार के निर्देशन पर किया है।
IVRI BAREILLY
वर्तमान समय में कोरोना महामारी (Corona pandemic) बड़े स्तर पर फैलने की वजह से इसके मरीजों में भी बढ़ोतरी हुई है। जिस कारण बरेली में कोरोना संदिग्ध मिलने से उसका सैंपल लेकर लखनऊ के केजीएमयू (KGMU Lucknow) भेजे जाते हैं। इस वजह से रिपोर्ट मिलने में भी देरी हो जाती है। लेकिन अब बरेली के आइवीआरआइ में भी इसकी जांच के लिए बायोसेफ्टी लेवल-4 लैब (biosafety level 4 lab) तैयार है। इस लैब में हाईटेक मशीनें लगी हैं। आइवीआरआइ बरेली के अधिकारियों का कहना है कि आइसीएआर की ओर से संस्थान को तैयार रहने के लिए कहा गया है ताकि जरूरत पडऩे पर इनका भी इस्तेमाल किया जा सके।

यहाँ भी पढ़े

COVID-19: गूगल प्ले स्टोर से ऐसे डाउनलोड करें सरकार का यह एप, कोरोना से निपटने में बनेगा मददगार

Related News

भारत सरकार के एक सर्वेक्षण में हुआ अहम खुलासा, देश के लगभग इतने बच्चों को है नशे की लत

भारत सरकार (Government of India) के एक सर्वेक्षण में बहुत ही अहम खुलासा हुआ है। देश में बच्चों में नशे की लत एक अहम...

एनसीबी ने दीपिका, श्रद्धा, सारा समेत इन लोगों के मोबाइल फोन किए जब्त, खंगाली जाएगी ड्रग्स चैट

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) से जुड़े ड्रग्स मामले में एनसीबी (NCB) ने शनिवार को दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और...

‘मन की बात’ कार्यक्रम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कर रहे हैं देश को संबोधित, जानिए प्रधानमंत्री ने क्या-क्या कहा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज यानी रविवार को अपना 69वां मासिक रेडियो प्रोग्राम 'मन की बात' (Maan Ki Baat) करेंगे। प्रधानमंत्री का...

अयोध्या में दीप महोत्सव को लेकर योगी सरकार कर रही है जोरों से तैयारी, इस बार ऐसे मनाया जाएगा दीप महोत्सव

कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के चलते दीपोत्सव (Deepotsav) को लेकर दिक्कतें सामने आ रही हैं। अधिकतम दीप प्रज्वलन की वर्चुअल प्रतियोगिता (Virtual Competition) l...

बरेली की राजनीति के पुरोधा राजेश अग्रवाल को दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के संगठन में मिली अहम् जिम्मेदारी

बात अगर बरेली की राजनीती की हो और राजेश अग्रवाल का नाम न आये ऐसा तो हो ही नहीं सकता , रुहेलखंड में भाजपा...

Mathura: श्रीराम जन्म भूमि के बाद श्रीकृष्ण जन्मभूमि का मामला पहुंचा कोर्ट

अयोध्या में श्रीराम लला के मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण शुरू हुई हो पाया था कि अब मथुरा में श्री कृष्ण जन्म भूमि (Shri...