Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश Covid-19: IIIT ने बनाया खास सॉफ्टवेयर, चंद सेकंड में बताएगा इन बीमारियों...

Covid-19: IIIT ने बनाया खास सॉफ्टवेयर, चंद सेकंड में बताएगा इन बीमारियों के बारे में

बरेली की राजनीति के पुरोधा राजेश अग्रवाल को दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के संगठन में मिली अहम् जिम्मेदारी

बात अगर बरेली की राजनीती की हो और राजेश अग्रवाल का नाम न आये ऐसा तो हो ही नहीं सकता , रुहेलखंड में भाजपा...

Mathura: श्रीराम जन्म भूमि के बाद श्रीकृष्ण जन्मभूमि का मामला पहुंचा कोर्ट

अयोध्या में श्रीराम लला के मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण शुरू हुई हो पाया था कि अब मथुरा में श्री कृष्ण जन्म भूमि (Shri...

Bareilly: कोरोना के रोकथाम के लिए नवनीत सहगल बनाएंगे रणनीति, लिए जाएंगे यह कदम

बरेली में कोरोना वायरस (Corona virus) धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है। अब इसकी रोकथाम के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और ग्रामोद्योग...

SSR Case: सुशांत के वकील ने किया ये बड़ा दावा, फिर रिया चक्रवर्ती के वकील ने दी यह प्रतिक्रिया

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह (Vikas Singh)...

देहरादून- भाजपा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषित, सांसद बलूनी को मिला ये दायित्व

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित कर दी है। जिसमें 12 राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, 8 राष्ट्रीय महामंत्री...

कोरोना वायरस (corona virus) आने के बाद कई संस्थानों में इस वायरस को पकड़ने के लिए नई नई चीजों का आविष्कार हुआ है। इसी के चलते भागलपुर ट्रिपल आईटी (IIIT) ने इस वायरस की पहचान के लिए एक खास सॉफ्टवेयर (software) विकसित किया है। यह सॉफ्टवेयर कोरोना ही नहीं बल्कि टीबी, वायरल और बैक्टीरियल निमोनिया और सामान्य मरीजों के बारे में आसानी से बता सकेगा।
bhagalpur iiit software for corona
सॉफ्टवेयर की मदद से न सिर्फ बीमारी का तेजी से पता चलेगा बल्कि इलाज भी जल्द शुरू हो जाएगा। ट्रिपल आईटी ने अपने नए सॉफ्टेवयर को भारतीय चिकित्सा अनुंसधान परिषद (ICMR) को भेज दिया है। वहां से सहमति मिलते ही इसे अस्पतालों में लागू कराए जाने की योजना है। निदेशक ने कहा कि इसके लिए आईसीएमआर के निदेशक से बात हो चुकी है। उम्मीद है कि इस माह के अंत तक सकारात्मक जवाब मिल जाएगा।

भागलपुर IIIT के निदेशक प्रो. अरविंद चौबे ने कहा कि कोविड-19 (covid-19) का पता लगाने के लिए सॉफ्टवेयर तैयार किया गया था। मगर आईसीएमआर ने इसमें तीन अन्य बीमारियों की जानकारी भी डालने के लिए कहा था ताकि यह पता चल सके कि मरीज को किस तरह की बीमारी है। इस पर काम पूरा हो चुका है। इसके लिए जवाहरलाल नेहरु मेडिकल अस्पताल से 500 और विदेशों से 500 के करीब डिजिटल एक्सरे के डाटा पर काम किया गया है। निदेशक ने दावा किया है कि इसे शत-प्रतिशत मरीजों के इलाज में डॉक्टरों को मदद मिलेगी।

Related News

बरेली की राजनीति के पुरोधा राजेश अग्रवाल को दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के संगठन में मिली अहम् जिम्मेदारी

बात अगर बरेली की राजनीती की हो और राजेश अग्रवाल का नाम न आये ऐसा तो हो ही नहीं सकता , रुहेलखंड में भाजपा...

Mathura: श्रीराम जन्म भूमि के बाद श्रीकृष्ण जन्मभूमि का मामला पहुंचा कोर्ट

अयोध्या में श्रीराम लला के मंदिर (Ram Mandir) का निर्माण शुरू हुई हो पाया था कि अब मथुरा में श्री कृष्ण जन्म भूमि (Shri...

Bareilly: कोरोना के रोकथाम के लिए नवनीत सहगल बनाएंगे रणनीति, लिए जाएंगे यह कदम

बरेली में कोरोना वायरस (Corona virus) धीरे धीरे बढ़ता जा रहा है। अब इसकी रोकथाम के लिए सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम और ग्रामोद्योग...

SSR Case: सुशांत के वकील ने किया ये बड़ा दावा, फिर रिया चक्रवर्ती के वकील ने दी यह प्रतिक्रिया

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput Case) में एक नया मोड़ आ गया है। सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह (Vikas Singh)...

देहरादून- भाजपा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषित, सांसद बलूनी को मिला ये दायित्व

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा ने अपनी राष्ट्रीय कार्यकारिणी घोषित कर दी है। जिसमें 12 राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, 8 राष्ट्रीय महामंत्री...

Panchayat Election 2020: प्रदेश में तेज कोई पंचायत चुनाव की तैयारियां, इस तारीख को जारी होगी मतदाता सूची

प्रदेश में पंचायत चुनाव की तैयारियां तेजी से चल रहे हैं। जिला निर्वाचन अधिकारियों (District Election Officers) ने बीएलओ की जिम्मेदारी तय कर ली...