COVID-19: संक्रमित मरीजों के लिए यहां भी बनेंगे आइसोलेशन वार्ड

Covid-19 का खतरा प्रदेश में बढ़ने लगा है। जिसे देखते हुए उत्तर मध्य रेलवे (NC Railway) कोरोना महामारी (Corona Epidemic) से निपटने के लिए 30 यात्री कोचों को आइसोलेशन वार्ड (Isolation Ward) बनाने का निर्णय लिया है। उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने यात्री कोचों को आइसोलेशन वार्ड बनाने के निर्देश दे दिए हैं। इनमें प्रयागराज, आगरा और झांसी मंडल में 10-10 कोच में आइसोलेशन वार्ड बनाए जाने की संभावना है।
isolation ward in train
रेलवे प्रशासन ने 10 दिन के अंदर ट्रेन (Train) के डिब्बों को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील करने के लिए कहा गया है। उत्तर मध्य रेलवे के सीपीआरओ अजीत सिंह ने बताया कि उत्तर रेलवे की ओर से दिल्ली में किए प्रयोग को देखते हुए उत्तर मध्य रेलवे जोन (NC Railway Zone) भी जीएम के निर्देश पर तैयारी कर रहा है।

जानें कैसे बनेगा आइसोलेशन वार्ड
इन कोचों में आइसोलेशन वार्ड के अनुरूप बदलाव किए जाएंगे, जिसमे मुख्य रूप से दो शौचालयों (Toilet) को फर्श लगा कर स्नान कक्ष में बदला जाएगा। उसमें स्नान कक्ष में हैंड शॉवर (hand shower), एक बाल्टी और मग (Bucket & Mug) रखे जाएंगे। कोच से मिडिल बर्थ (Middle Berth) को हटाया जायेगा, अलग-अलग पार्टीशंस बनाए जाएंगे। चिकित्सा उपकरणों (Medical Appliances) के लिए प्रत्येक डिब्बे में 220 वोल्ट विधुत का प्रावधान है। बाहर के लिए 415 वोल्ट की विद्युत आपूर्ति का प्रावधान है। प्रत्येक डिब्बे में एयर प्लास्टिक के पर्दे (Plastic curtains) का प्रावधान है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें