COVID-19: ये हैं कोरोना की Stages, अगर नहीं रुका तो ऐसी होगी हालत

कोरोना वायरस (Corona Virus) लगातार फैलता जा रहा है। भारत में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 499 हो चुकी है। लेकिन भारत में इसे काबू करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। लोगों को जागरुक (Aware) बनाया जा रहा है और संक्रमण को फैलने से रोकने के तमाम उपाय किए जा रहे हैं।
corona3एम्स के डॉ. अजय मोहन ने बताया कि यह ऐसी संक्रामक बीमारी है जो छींकने, खांसने या बोलने के दौरान फैलती है। कोरोना वायरस के संक्रमण का अभी कोई इलाज नहीं है। यही कारण है कि बीमारी को फैलने से रोकने पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने कोरोना वायरस के अलग-अलग चरण (Stages) बताए हैं और समझाया है कि किस तरह चरण दर चरण इस बीमारी का फैलना दुनिया के लिए खतरनाक हो सकता है।

कोरोना के चार चरण कुछ इस प्रकार हैं-

चरण 1 : विदेशों से आए मामले
इस चरण में मरीज किसी और देश में संक्रमित होता है। भारत में भी इस बीमारी की शुरुआत ऐसे ही हुई। कोरोना वायरस का पहला पॉजिटिव केस केरल का वो छात्र था, जो चीन की वुहान यूनिवर्सिटी में पढ़ता था। अब भी जो केस सामने आ रहे हैं, वो इटली, चीन या ईरान से लौटे हैं और इन्हीं के कारण बाकी लोगों में संक्रमण फैल रहा है।

चरण 2 : स्थानीय लोगों में संक्रमण फैलना
भारत अभी कोरोना वायरस के चरण 2 पर है। यहां बाहर से आए मरीज संक्रमण फैला रहे हैं। इसी स्थिति को रोकने की कवायद केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर कर रही हैं। जो लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं, उनकी ट्रेवल हिस्ट्री यानी उन्होंने कहा-कहां यात्रा की और किन-किन लोगों के सम्पर्क में आए, यह पता लगाया जा रहा है।

चरण 3 : कम्युनिटी के बीच संक्रमण फैलना
यह चरण इसलिए घातक होता है, क्योंकि इसमें भीड़ के बीच बीमारी फैल जाती है। चीन और इटली में यही हुआ और अब इन देशों में यह बीमारी काबू से बाहर है। भारत सरकार भी जानती है कि यदि हम चरण 3 में प्रवेश कर गए तो हालात बहुत बिगड़ जाएंगे। इस चरण में यह पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि भीड़ में मौजूद किस शख्स में संक्रमण हुआ है।

चरण 4 – महामारी
इस चरण में संक्रमण महामारी का रूप ले लेता है। चीन में ऐसा हो चुका है। इटली, ईरान, अमेरिकी इस स्तर पर पहुंच चुके हैं। यही कारण है कि इमरजेंसी घोषित कर हालात काबू में करने की कोशिश की जा रही है।

यदि हमने अभी सावधानी नहीं बरती तो कोरोना को रोकना बहुत मुश्किल हो जाएगा। अगर ऐसा हुआ तो इसकी चपेट में इतने लोग आ जाएंगे जिसका हम अनुमान भी नहीं लगा सकते हैं। इस कारण कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने प्रदेश के कई जिलों में लॉक डाउन किया है। सरकार ने लोगों से अपील की है कि लोग लॉक डाउन के दौरान सभी लोग अपने घरों में ही रहें। जिससे हम कोरोना वायरस को हराने में कामयाब हो सकें।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें
A valid URL was not provided.