inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश COVID-19: ये हैं कोरोना की Stages, अगर नहीं रुका तो ऐसी होगी...

COVID-19: ये हैं कोरोना की Stages, अगर नहीं रुका तो ऐसी होगी हालत

कोरोना वायरस (Corona Virus) लगातार फैलता जा रहा है। भारत में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 499 हो चुकी है। लेकिन भारत में इसे काबू करने में कोई कसर नहीं छोड़ी जा रही है। लोगों को जागरुक (Aware) बनाया जा रहा है और संक्रमण को फैलने से रोकने के तमाम उपाय किए जा रहे हैं।
corona3एम्स के डॉ. अजय मोहन ने बताया कि यह ऐसी संक्रामक बीमारी है जो छींकने, खांसने या बोलने के दौरान फैलती है। कोरोना वायरस के संक्रमण का अभी कोई इलाज नहीं है। यही कारण है कि बीमारी को फैलने से रोकने पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने कोरोना वायरस के अलग-अलग चरण (Stages) बताए हैं और समझाया है कि किस तरह चरण दर चरण इस बीमारी का फैलना दुनिया के लिए खतरनाक हो सकता है।

कोरोना के चार चरण कुछ इस प्रकार हैं-

चरण 1 : विदेशों से आए मामले
इस चरण में मरीज किसी और देश में संक्रमित होता है। भारत में भी इस बीमारी की शुरुआत ऐसे ही हुई। कोरोना वायरस का पहला पॉजिटिव केस केरल का वो छात्र था, जो चीन की वुहान यूनिवर्सिटी में पढ़ता था। अब भी जो केस सामने आ रहे हैं, वो इटली, चीन या ईरान से लौटे हैं और इन्हीं के कारण बाकी लोगों में संक्रमण फैल रहा है।

चरण 2 : स्थानीय लोगों में संक्रमण फैलना
भारत अभी कोरोना वायरस के चरण 2 पर है। यहां बाहर से आए मरीज संक्रमण फैला रहे हैं। इसी स्थिति को रोकने की कवायद केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर कर रही हैं। जो लोग पॉजिटिव पाए जा रहे हैं, उनकी ट्रेवल हिस्ट्री यानी उन्होंने कहा-कहां यात्रा की और किन-किन लोगों के सम्पर्क में आए, यह पता लगाया जा रहा है।

चरण 3 : कम्युनिटी के बीच संक्रमण फैलना
यह चरण इसलिए घातक होता है, क्योंकि इसमें भीड़ के बीच बीमारी फैल जाती है। चीन और इटली में यही हुआ और अब इन देशों में यह बीमारी काबू से बाहर है। भारत सरकार भी जानती है कि यदि हम चरण 3 में प्रवेश कर गए तो हालात बहुत बिगड़ जाएंगे। इस चरण में यह पता लगाना मुश्किल हो जाता है कि भीड़ में मौजूद किस शख्स में संक्रमण हुआ है।

चरण 4 – महामारी
इस चरण में संक्रमण महामारी का रूप ले लेता है। चीन में ऐसा हो चुका है। इटली, ईरान, अमेरिकी इस स्तर पर पहुंच चुके हैं। यही कारण है कि इमरजेंसी घोषित कर हालात काबू में करने की कोशिश की जा रही है।

यदि हमने अभी सावधानी नहीं बरती तो कोरोना को रोकना बहुत मुश्किल हो जाएगा। अगर ऐसा हुआ तो इसकी चपेट में इतने लोग आ जाएंगे जिसका हम अनुमान भी नहीं लगा सकते हैं। इस कारण कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने प्रदेश के कई जिलों में लॉक डाउन किया है। सरकार ने लोगों से अपील की है कि लोग लॉक डाउन के दौरान सभी लोग अपने घरों में ही रहें। जिससे हम कोरोना वायरस को हराने में कामयाब हो सकें।

Related News

पुलिस दबाव में, गदरपुर में बिजली कर्मचारी बेमियादी हड़ताल पर, जिले भर का समर्थन

रुद्रपुर। गदरपुर में बिजली चेकिंग करने गई विजिलेंस टीम को बंधक बनाकर मारपीट करने के आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से नाराज बिजली विभाग...

देहरादून- प्रेमनगर में मिनी स्टेडियम बनाने की सीएम त्रिवेन्द्र ने की घोषणा, क्रीडा भवन का किया लोकार्पण

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शुक्रवार को प्रेमनगर, देहरादून में 63.39 लाख की लागत से निर्मित बहुद्देशीय क्रीडा भवन का लोकार्पण किया। इस अवसर...

पंतनगर- विश्वविद्यालय ने की 8 नये कोर्सों की शुरूआत, अब घर बैठे ऐसे कृषि उद्योग क्षेत्र में बने आत्मनिर्भर

पंतनगर विश्वविद्लाय ने राजकीय कृषि उच्चतर शिक्षा परियोजना में आठ और नए सर्टिफिकेट कोर्स शुरु होने जा रहे है। इससे देश विदेश में बैठे...

देहरादून- उत्तराखंड में दी जाएगी फ्री IAS और PCS की कोचिंग, उच्च शिक्षा मंत्री ने की बड़ी घोषणा

प्रदेशभर के डिग्री कॉलेजों में पढ़ने वाले छात्रों के लिए अच्छी खबर है। उन्हें उच्चशिक्षा ग्रहण करने के बाद अब राज्य के प्रमुख कोचिंग...

रिश्तों का कत्ल: जायदाद के लिए भाभी ने ही भाड़े के बदमाशों से करा दी देवर की हत्या, गिरफ़्तार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। उत्तर प्रदेश के बरेली जिले में एक भाभी ने 14 बीघा जमीन के लिए  अपने देवर की हत्या भाड़े के हत्यारों...

बरेली: केन्द्रीय मंत्री से बोले व्या‍पारी-कुतुबखाना पर ओवरब्रिज नहीं अंडरपास बने

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कुतुबखाना ओवरब्रिज निर्माण का विरोध कर रहे व्‍यापारियों ने आज शुक्रवार को केन्‍द्रीय मंत्री संतोष गंगवार से मुलाकात की और ओवरब्रिज...