Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश COVID 19: माध्यमिक शिक्षा विभाग ने दी अभिभावकों को राहत, नहीं देनी...

COVID 19: माध्यमिक शिक्षा विभाग ने दी अभिभावकों को राहत, नहीं देनी होगी इतने महीनाें की फीस

बनारस की बेटी बनेंगी राफेल उड़ाने वाली पहली महिला पायलट, देखें कौन हैं वह

सरकार महिला सशक्तिकरण पर काफी जोर दे रही है। धीरे-धीरे महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही हैं। इसकी झलक...

Prithvi-2: भारत ने किया स्वदेशी मिसाइल का सफल परीक्षण, जानें क्या है खासियत

भारत दुनिया भर में एक प्रतिभाशाली देश बनता जा रहा है। अब भारत धीरे-धीरे विदेशों से सामान खरीदने की नीतियों पर भी बदलाव कर...

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी ने बढ़ाई प्रैक्टिकल परीक्षा कराने की तारीख, अब इस तारीख तक कराने होंगे प्रैक्टिकल

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) ने कॉलेजों में प्रैक्टिकल कराने की आखिरी तारीख निर्धारित कर दी हैं। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने 15 अक्टूबर तक प्रैक्टिकल...

BAREILLY: स्कूल प्रबंधन ने बोर्ड परीक्षा रजिस्ट्रेशन करने से किया इनकार, तो पिता ने दी आत्मदाह की धमकी

बरेली: जिले की मीरगंज तहसील के एक निजी स्कूल में एक छात्रा की अप्रैल से सितंबर तक की फीस (Fees) जमा न होने पर...

BAREILLY: स्कूल फीस को लेकर अभिभावक पहुंचे कलेक्ट्रेट और की ये मांग

बरेली: अभिभावक और स्कूल प्रबंधन (School Management) के बीच फीस को लेकर तकरार जारी है। कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के चलते पिछले छह महीने...

कोराना वायरस (Corona virus) के चलते लोगों को संकट के कठिन दौर से गुजरना पड़ रहा है। इस दौरान अभिभावकों को राहत देने के लिए माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से आदेश जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि निजी स्कूल अगले 3 महीने की फीस एडवांस (Fee advance) में जमा कराने के लिए अभिभावकों पर दबाव नहीं डालें। इस मुश्किल दौर में अभिभावकों से केवल मासिक शुल्क (Monthly fee) ही जमा कराया जाए।
madhyamik shiksha vibhaag
प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने आदेश जारी कर कहा है कि इस मुश्‍किल दौरान में यदि अभिभावक मासिक शुल्क भी जमा करने में असमर्थ हैं तो स्कूल प्रबंधन (School management) को इस पर विचार करे कि इसे किस्तों में लिया जाए। इसके अलावा इस मुश्किल वक्त में पूरे प्रदेश में फीस जमा ना होने के कारण किसी भी बच्चे का स्कूल से नाम ना काटा जाए, साथ ही उसकी ऑनलाइन क्लास (Online class) को जारी रखा जाए। इस मुश्किल दौर में निजी स्कूल (private schools) भी अपना योगदान देते हुए कोरोना महामारी से लड़ने में आगे आएं।

Related News

बनारस की बेटी बनेंगी राफेल उड़ाने वाली पहली महिला पायलट, देखें कौन हैं वह

सरकार महिला सशक्तिकरण पर काफी जोर दे रही है। धीरे-धीरे महिलाएं पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही हैं। इसकी झलक...

Prithvi-2: भारत ने किया स्वदेशी मिसाइल का सफल परीक्षण, जानें क्या है खासियत

भारत दुनिया भर में एक प्रतिभाशाली देश बनता जा रहा है। अब भारत धीरे-धीरे विदेशों से सामान खरीदने की नीतियों पर भी बदलाव कर...

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी ने बढ़ाई प्रैक्टिकल परीक्षा कराने की तारीख, अब इस तारीख तक कराने होंगे प्रैक्टिकल

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) ने कॉलेजों में प्रैक्टिकल कराने की आखिरी तारीख निर्धारित कर दी हैं। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने 15 अक्टूबर तक प्रैक्टिकल...

BAREILLY: स्कूल प्रबंधन ने बोर्ड परीक्षा रजिस्ट्रेशन करने से किया इनकार, तो पिता ने दी आत्मदाह की धमकी

बरेली: जिले की मीरगंज तहसील के एक निजी स्कूल में एक छात्रा की अप्रैल से सितंबर तक की फीस (Fees) जमा न होने पर...

BAREILLY: स्कूल फीस को लेकर अभिभावक पहुंचे कलेक्ट्रेट और की ये मांग

बरेली: अभिभावक और स्कूल प्रबंधन (School Management) के बीच फीस को लेकर तकरार जारी है। कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के चलते पिछले छह महीने...

रिया और शौविक चक्रवर्ती की जमानत याचिका पर आज नहीं होगी सुनवाई, जानिए कारण

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput) से जुड़े ड्रग्स मामले (Drugs Cases) में रिया चक्रवर्ती की मुश्किलें कम नहीं हो रही है। मंगलवार...