COVID-19: भारतीयों के शरीर में कोरोना वायरस से लड़ने वाले एंटीबॉडी का आकलन करेंगे वैज्ञानिक, भारतीयों पर कोरोना‌ हो रहा है बेअसर

दुनिया में हाहाकार मचा रहा कोरोना वायरस (Corona Virus) भारतीयों के शरीर पर बेअसर क्यों है, इसका वैज्ञानिक पता लगाएंगे। देश में जैसे-जैसे संक्रमित मरीजों (Infected patients) की संख्या बढ़ रहे हैं, साथ ही मरीज दोगुनी तेजी से ठीक भी हो रहे हैं। डॉक्टरों का दावा है कि देश में कोरोना से मरने वाले मरीज किसी दूसरी बीमारी से पीड़ित थे, केवल कोरोना से मरने वालों की संख्या बहुत ही कम है।blood test

भारतीयों पर कोरोना वायरस बेअसर क्यों है यह जानने के लिए आईजी-जी एंटीबॉडी (IG-G Antibody) टेस्ट कराया जाएगा। इस टेस्ट के द्वारा पता चलेगा कि लोगों की प्रतिरोधक क्षमता (buffering capacity) कोरोना वायरस के मुकाबले कितनी मजबूत है। इसके लिए आईसीएमआर (ICMR) ने यूपी (UP) के 9 जिलों समेत देशभर के 21 प्रांतों के 69 जिलों में लोगों के वीनस ब्लड सैंपल (Venus blood sample) लेकर टेस्ट कराने का फैसला किया है।

इस टेस्ट के द्वारा भारतीयों के शरीर में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए इम्यूनो ग्लोबुलीन जी (IG-G) एंटीबॉडी की मौजूदगी का आंकलन किया जाएगा। एंटीबॉडी शरीर में कोरोना जैसे संक्रमण (Infection) के फैलने या टीकाकरण (Vaccination) के बाद शरीर में बनने लगती है। आईजी-जी के अलावा भी शरीर में कई एंटीबॉडी पाए जाते हैं।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें