COVID-19 : जुवैनाइल होम में बंद बच्चे हो सकते हैं रिहा

लखनऊ। जुवैनाइल होम (Juvenile Homes) में बंद एक हजार से अधिक बच्चों को प्रदेश सरकार (State Government) रिहा करने पर विचार कर रही है। कोरोना वायरस (Corona virus) के प्रकोप को देखते हुए यह राज्य की जेलों (Jail) में भीड़ कम करने का प्रयास है।

महिला और बाल कल्याण (Women and Child Welfare), निदेशक मनोज कुमार राय के अनुसार जुवैनाइल होम के बच्चों (Children) की रिहाई के संबंध में 1 अप्रैल को उच्चाधिकार प्राप्त समिति (Empowered Committee) द्वारा चर्चा की जाएगी। हमने 1000 से अधिक बच्चों की सूची तैयार की है, जिनमें से 250 को छोटे-मोटे मामलों के लिए जुवैनाइल होम में रखा गया था। बता दें कि सरकार (Government) पहले से ही 11000 कैदियों को पैरोल पर और 7 साल या उससे कम अवधि वाले कैदियों को रिहा करने की तैयारी में है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें