COVID-19: जानिए घंटी, ताली और थाली बजाने के पीछे क्या है राज

कोरोना वायरस (Corona Virus) से बचने के लिए प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi)  की आव्हान (Invocation) पर जनता कर्फ्यू (Public Curfew) शहर में सफल (Successful) दिखाई दे रहा है। पूरे शहर में सन्नाटा पसरा पड़ा है सभी गली मोहल्ले सुनसान नजर आ रहे हैं। पीएम मोदी के आग्रह पर 22 मार्च को शाम 5 बजे अपनी गेट (Gate) व खिड़की (Window) पर खड़े होकर डॉक्टर, पुलिस कर्मियों, मीडिया कर्मियों, सफाई कर्मियों, होम डिलीवरी करने वालों का 5 मिनट तक आभार व्यक्त करने को कहा है। जनता प्रधानमंत्री मोदी की कही गई सभी बातों का भली-भांति पालन कर रही हैं।
thali ghanti aur tali bajanaप्रधानमंत्री मोदी ने 22 मार्च को 5 बजे अपनी खिड़की व दरवाजे पर खड़े होकर घंटी, ताली और थाली बजाने को कहा था। इसके पीछे एक वैज्ञानिक कारण (Scientific Reason) भी है घर हो या मंदिर सभी जगह घंटी होती है क्योंकि वैज्ञानिकों के मुताबिक जब घंटी बजाई जाती है। तो वातावरण (Environment) में कंपन (Vibration) उत्पन्न होता है जो वायुमंडल (Atmosphere) में काफी दूर तक जाता है। वातावरण में होने वाले इस कंपन के कारण इस क्षेत्र में आने वाले सभी जीवाणु, विषाणु और सूक्ष्म जीव खत्म हो जाते हैं। और इससे आसपास का वातावरण शुद्ध हो जाता है। साथ ही ताली बजाने से हमारे शरीर में ऑक्सीजन का फ्लो (Flow) सही तरीके से होता है। जिससे हमारे फेफड़ों (Lungs) में ऑक्सीजन सही तरह से पहुंचती है और हम स्वस्थ रहते हैं।

कोरोना पीड़ित संदिग्ध बोला डॉक्टर साहब मेरी जान बचा लो। देखिये अस्पताल में अंदर फिर क्या हुआ। मॉक ड्रिल अस्पताल की।