COVID-19: जानिए क्या,क्यों और किन देशों में है लॉकडाउन 

लॉकडाउन होता क्या है? 
लॉकडाउन (Lockdown) एक इमरजेंसी (Emergency) व्यवस्था होती है। किसी क्षेत्र में अगर लॉकडाउन हो जाता है तो उस क्षेत्र के लोगों को घरों से निकलने की अनुमति (Permission) नहीं होती है। घर की  आवश्यक चीजों के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति होती है। अगर किसी को दवा (Medicine) या अनाज (Grain) की जरूरत होने पर घर के बाहर जा सकते है। अस्पताल (Hospital) और बैंक (Bank) के काम के लिए भी बाहर जा सकते है। छोटे बच्चों और बुजुर्गों की देखभाल के काम से भी बाहर निकलने की अनुमति मिल सकती है।
lockdownलॉकडाउन करते क्यों हैं?
किसी खतरे (Danger) से इंसान या किसी इलाके को बचाने के लिए लॉकडाउन (Lockdown) किया जाता है। कोरोना (Corona) के संक्रमण (Infection) से बचने के लिए कई देशों (Countries) में ऐसा किया गया है। कोरोना वायरस (Corona Virus) का संक्रमण एक इंसान से दूसरे इंसान में न हो इसके लिए जरूरी है कि सभी लोग घरों से बाहर कम निकले। बाहर निकलने की स्थिति में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए कुछ देशों में लॉकडाउन जैसी स्थिति हो गई है।

लॉकडाउन किन देशों में है?
फ्रांस, आयरलैंड, इटली, चीन, डेनमार्क, अल सलवाडोर, न्यूजीलैंड, पोलैंड और स्पेन में लॉकडाउन (Lockdown) जैसी स्थिति है। चीन (China) में ही सबसे पहले कोरोना वायरस के संक्रमण का मामला सामने आया था, इसलिए वहां सबसे पहले लॉकडाउन किया गया था। इटली (Italy) में मामला गंभीर होने के बाद वहां के प्रधानमंत्री (Prime Minister) ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया। उसके बाद स्पेन (Spain) और फ्रांस (France) ने भी कोरोना संक्रमण (Corona Infection) रोकने के लिए यही कदम उठाया।

लॉकडाउन कब-कब हुआ?
अमेरिका (America) में 9/11 के आतंकी हमले (Terrorists Attack) के बाद वहां तीन दिन का लॉकडाउन (Lockdown) किया गया था।  दिसंबर 2005 में न्यू साउथ वेल्स पुलिस फोर्स (New South Wales Police Force) ने दंगा (Riot) रोकने के लिए लॉकडाउन किया था। 19 अप्रैल, 2013 को बोस्टन शहर (Boston City) को आतंकियों (Terrorists) की खोज के लिए लॉकडाउन कर दिया गया था। नवंबर 2015 में पेरिस हमले (Paris attack) के बाद संदिग्धों (Suspects) को पकड़ने के लिए ब्रुसेल्स (Brussels) में पूरे शहर को लॉकडाउन किया गया था।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें
A valid URL was not provided.