COVID-19: गोरखपुर में बना प्रदेश का पहला सैनिटाइजर टर्मिनल, यह होगा फायदा

Gorakhpur: पूरी दुनिया कोरोना वायरस (corona virus) के संक्रमण से बचने का इलाज ढूंढ रही है। हर जगह इसके बचाव के लिए तरह-तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। वहीं गोरखपुर (Gorakhpur) में प्रदेश का पहला सैनिटाइजर टर्मिनल (sanitizer terminal) तैयार किया गया है। कल इस टर्मिनल का ट्रायल (trial) किया गया था जिसके दौरान कमिश्नर जयंत नारलीकर टर्मिनल से होकर गुजरे। महेवा मंडी में बने इस टर्मिनल को आज आम लोगों के लिए खोल दिया गया है।
sanitizer terminal in Gorakhpur
मंडी जाने वाले हर व्यक्ति को अब इस टर्मिनल से होकर गुजरना पड़ता है। जैसे ही कोई इसमें कोई व्यक्ति दाखिल होता है, तो इसमें लगे सेंसर की मदद से 30 सेकेंड के लिए सैनिटाइजर का फौव्वारा निकलने लगता है। अब इस तरह के टनल को बीआरडी मेडिकल कॉलेज (BRD Medical College) में भी उपलब्ध कराने की तैयारी की जा रही है।

इस टर्मिनल को मंडी में लगाने का मुख्य कारण यह भी है कि घर का अधिकतर राशन (Ration) जैसे दाल, चावल, चीनी, आटा, सब्जी आदि इसी मंडी से जाता है। इस कारण लॉकडाउन (Lockdown) के बावजूद रोजाना यहां बड़ी संख्या में लोग जुटते हैं। जिस वजह से इतने नियमों के बावजूद सोशल डिस्टेंसिंग (social distancing) का पालन सही से नहीं हो पाता है। कमिश्नर ने मंडी के मुख्य प्रवेश द्वार पर पुलिस बल भी तैनात करने को कहा है ताकि हर व्यक्ति टनल से होकर ही मंडी में जाए।

यहाँ भी पढ़े

Lockdown: कम्युनिटी किचन बनी गरीब, असहाय और जरूरतमंद लोगों का सहारा

उत्तराखंड की बड़ी खबरें