COVID-19: कोरोना योद्धाओं का समाज सेवा मंच ने कुछ ऐसे किया सम्मान 

बरेली: पूरे विश्‍व में कोरोना वायरस (Corona virus) को एक महामारी घाषित कर दिया है। जो अभी तक लाइलाज है। इसके बावजूद डॉक्‍टर अपनी जान को जोखिम में डालकर कोरोना संक्रमित (Corona infected) लोगों का इलाज कर रहे हैं। ऐसे में कई बार इनके भी संक्रमित होने का खतरा रहता है। इस दौरान सोमवार को समाज सेवा मंच की ओर से कोरोना संक्रमित मरीजों (Corona infected patients) की सेवा में लगे डॉक्टरों को सम्मान किया गया। संगठन के अध्यक्ष नदीम शमसी ने कहा कि देशवासियों को ऐसे डॉक्टरों की सेवा कभी नहीं भूलना नहीं चाहिए।
samajseva manch
300 बैड के अस्पताल में कोरोना मरीजों की लगातार जांच व इलाज कर रहे डॉक्टरों (doctors) को समाज सेवा मंच ने सोमवार को सम्मानित किया। अध्यक्ष नदीम शमसी ने कहा जो डॉक्टर देश की सेवा में लगे हुए हैं। ये अपनी जान हथेली पर लेकर करोना के मरीजों का इलाज कर रहे हैं, ये डॉक्टर वरिष्ठ समाजसेवी हैं। देशवासियों को ऐसे डॉक्टरों की सेवा कभी नहीं भूलना नहीं चाहिए इनमें से कई डॉक्टरों ने तो अपना परिवार भी जनसेवा के चलते त्याग दिया है। 

हमारी अपील है हर शहर में इनका सम्मान होना चाहिए। देश के लिए इनका बहुत बड़ा योगदान है संरक्षक राजेंद्र प्रसाद घंडियाल जी ने कहा करोना वायरस (Corona virus) की महामारी के विरुद्ध अपने जीवन को दांव पर लगाने वाले तमाम डॉक्टर, मेडिकल स्टाफ पूजे जाने योग हैं। ऐसे समय में समस्त की डॉक्टरों जितनी प्रशंसा की जाए वह कम है। समस्त मानव जाति की रक्षा के लिए समाज सेवा मंच अपने सभी साथियों के साथ डॉक्टरों का स्वागत करता है। 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें