CORONA VIRUS: मार्च में नहीं हो सकेंगे मां पूर्णागिरि के दर्शन, जानिए वजह

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, राखी गंगवार

CORONA VIRUS: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर पूर्णागिरि मेले (Purnagiri Fair) पर अनिश्चितकाल के लिए रोक लगा दी है। इस अवधि में पूर्णागिरि धाम (Poornagiri Dham) में श्रद्धालुओं की आवाजाही पर पूरी तरह से प्रतिबंध रहेगा। जिला प्रशासन (District Administration) के फैसले पर राज्य सरकार (State Government) ने मुहर लगाते हुए इस संबंध का आदेश जारी किया है। यह पहला मौका है जब पूणागिरि मेले पर रोक लगी है।
Purnagiri Mandirजिलाधिकारी (Collector) एसएन पांडेय, एडीएम (ADM) टीएस मर्तोलिया और एसपी (SP) लोकेश्वर सिंह ने यहां पर्यटक आवास गृह (Tourist Accommodation) में मंदिर समिति के पदाधिकारियों और अन्य के साथ बैठक में मेले को अनिश्चितकाल के लिए बंद करने का प्रस्ताव पारित किया गया। इसके बाद इसे राज्य सरकार को भेजा था। देर शाम सरकार ने मेले पर रोक के आदेश जारी कर दिए।

मंदिर समिति बोली हमारे लिए भक्‍तों की सुरक्षा सबसे पहले
कोरोना वायरस के कारण पूर्णागिरि मेले पर लगी रोक पर मंदिर समिति जनहित में लिया गया फैसला उचित बताया है। समिति के अध्यक्ष पं. भुवन चंद्र पांडेय का कहना है कि जन सुरक्षा सर्वोपरि है। उन्होंने कहा कि कोरोना का संक्रमण देश पर बड़ा संकट है। सरकार को इससे निपटने के लिए हर जरूरी कदम उठाने चाहिए। मंदिर समिति जन सुरक्षा में लिए गए सरकार के इस फैसले से सहमत है। जन सुरक्षा के लिए पूर्णागिरि के साथ ही देश के कई अन्य धार्मिक स्थलों पर भी रोक का फैसला जनहित में लिया गया है।
PURNAGIRI YATRAअब तक आठ हजार भक्तों ने किए देवी मां के दर्शन
कोरोना वायरस की दहशत के बावजूद पूर्णागिरि मेले में श्रद्धालुओं की आवाजाही का सिलसिला जारी है। रविवार को आठ हजार भक्तों ने मां पूर्णागिरि के दर्शन किए। श्रद्धालु साइकिलों और बाइकों से उत्साह के साथ जत्थों में आ रहे हैं।

कोरोना वायरस की दहशत के चलते पूर्णागिरि मेले में इस बार शुरूआती दिन से ही श्रद्धालुओं की आवाजाही कम है। मेले की रौनक पर इसका असर पड़ रहा है। मेला अधिकारी जिला पंचायत के एएमए राजेश कुमार के मुताबिक रविवार को करीब आठ हजार श्रद्धालुओं ने देवी के दर्शन किए हैं। इधर, मेले के कारण नेपाल के सीमांत ब्रह्मदेव बाजार में भी रौनक बनी हुई है।
-purnagiriसील हो सकती है नेपाल से लगी सीमा
कोरोना वायरस के तेजी से फैल रहे संक्रमण के मद्देनजर जल्द ही चंपावत जिले से लगी भारत-नेपाल सीमा को सील किया जा सकता है। एसपी लोकेश्वर सिंह ने इस बात के संकेत दिए हैं। उन्होंने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से नेपाल सीमा को भी कुछ समय के लिए सील रखने के लिए सरकार को सुझाव भेजा गया है। सरकार के आदेश की प्रतीक्षा की जा रही है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें