CORONA VIRUS: जरूरी नहीं मास्‍क, इसका भी कर सकते हैं इस्‍तेमाल

बरेली: देशभर में कोरोना का कहर जारी है। देश में कोरोना के संक्रमण (Corona infection) से एक मौत की पुष्टि भी हो चुकी है। कोरोना वायरस (Corona Virus) से बचने के लिए लोग भारी मात्रा में सैनेटाइजर मास्क खरीद रहे हैं। दुकानदारों ने इसका फायदा उठाते हुए सैनेटाइजर और मास्क की कालाबाजारी शुरू कर दी है। जिसके चलते लोगों को सैनेटाइजर और मास्क (Sanitizer and mask) खरीदने के लिए 10 गुने से अधिक कीमत चुकानी पड़ रही है। जबकि ऐसा करने की जरूरत नहीं है। एसीएमओ डॉ. रंजन गौतम ने बताया कि अधिक कीमती मास्क लेने की जगह रुमाल से ही नाक और मुंह ढक कर रखें। साफ-सुथरा रुमाल भी काफी सुरक्षित है। किसी अस्पताल में भीड़भाड़ वाली जगह से आने के बाद रुमाल को तुरंत करें लें।
corona virusडॉ. गौतम ने बताया वायरस का आकार 400 से 500 माइक्रोन (Micron) होता है, जो कोई भी मास्‍क से रोका जा सकता है। यह वायरस हवा में नहीं टिक पाता है किसी वस्तु या जीव से ही एक जगह से दूसरी जगह ट्रेवल (Travel) करता है। हवा में वायरस होने की बात अफवाह है। कोरोना वायरस हाथों पर 12 घंटे तक जीवित रह सकता है। किसी भी संक्रमित धातु को छूने से बचें और साबुन पानी से अच्छी तरह हाथ होते रहें।

यह वायरस कपड़ों पर 9 घंटे तक जीवित रहता है कपड़ों को धूप में सुखाने से इसका खतरा काफी कम हो जाता है। जबकि उन्होंने कहा हाथों पर यह वायरस 10 मिनट तक रहता है ऐसे में अल्कोहल और सैनेटाइजर (Alcohol and Sanitizer) से हाथ धोएं। 26 से 27 डिग्री तापमान (Temperature) पर यह वायरस मर जाता है। गर्म पानी पिएं और सूरज की धूप में रहना भी लाभदायक है। इसके अलावा नमक मिले गर्म पानी से गरारे करें जिससे वायरस फेफड़ों में नहीं जा पाता है।

कोरोना के लक्षण

  • नाक बहना और कफ के साथ खांसी आना
  • गले में दर्द के साथ सिर में भी दर्द होना
  • कई दिन तक बुखार का रहना
  • निमोनिया बीमारी के लक्षण भी कोरोना वायरस के संक्रमण दिखाते हैं।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें