iimt haldwani

एम.आई.ई.टी कॅुमाऊ में हुआ इंडक्षन कार्यक्रम का समापन, विद्यार्थियों का ऐसे किया मार्गदर्शन

118

एम.आई.ई.टी कॅुमाऊ केंपस में आज इंडक्शन कार्यक्रम का समापन हुआ। इस मौके पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रोफेसर डॉ. आर.सी.मिश्रा डायरेक्टर स्कूल ऑफ़ मैनज मेंट एंड कॉमर्स उत्तराखंड ओपन यूनिवर्सिटी और माननीय एडवोकेट आमिर खान अधिवक्ता हाईकोर्ट नैनीताल रहे। सात दिवसीय इंडक्शन प्रोग्राम में विद्यार्थियों के लिए कई गतिविधियां करवाई गई।

amarpali haldwani

इस दौरान विद्यार्थियों को उनके पसंदीदा खेल खिलवाने के साथ ही प्रेरणा दायक वीडियो भी दिखाए गए। इस मौके पर बेसिक इंग्लिश लेटर राइटिंग एंड एप्लीकेशन राइटिंग, मेल राइटिंग मैनेजमेंट गेम्स इंट्रोडक्शन ऑफ़ बेसिक कंप्यूटर एप्टीटुड ट्रेनिंग पोस्ट रमेकिंग स्कोप एंड इम्पोर्टैन्स ऑफ़ बी.बी.ए. एवं बी.सी.ए आदि कार्यक्रम आयोजित किये गये।

MIET Kumaon College/

इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रोफेसर आर.सी. मिश्रा ने बच्चों को बताया कि जिंदगी में सफलता हासिल करने के लिए बच्चों का सर्वपक्षीय विकास होना जरूरी है। इसलिए इस इंडक्शन प्रोग्राम का आयोजन किया गया। जिससे बच्चों को पता चल सके कि उन्होंने किस तरह से कॉलेज में उपलब्ध सुविधाओं का प्रयोग करके अपने व्यक्तित्व का विकास करना है। साथ ही कैसे भटकाव की स्थिति से बचना चाहिए। उन्होंने बच्चो को बताया की आधुनिक तकनीक का आदि नहीं होना है। इसका सद उपयोग करते हुए अपना सर्वागीण विकास करना चाइयें।

कहां कि विद्यार्थियों को शिक्षकों के कुशल मार्ग दर्शन का लाभ उठाना चाहिए तथा उन्होंने मैनजमेंट एवं कम्प्यूटर एप्ली केशन विषय पर अपने विचार भी रखे। अल्पहारी गृह त्यागी विद्यार्थी पंच लक्षणं द्वारा सम्बोधित किया गया। उन्होंने बच्चो के उज्जवल भविष्य की कामना की। कार्यकारी निदेशक तरुण सक्सेना ने बच्चों को हार्ड स्किल का महत्व बताया। उन्होंने प्रैक्टिकली बता याकि हार्डस्किल का इस्तेमाल कर के विद्यार्थी अपने आपको प्रभावशाली बना सकते हैं।

तथा कार्यक्रम के समापन के अवसर पर सभी बच्चो को भविष्य के लिया शुभकामनायें दी। उन्होंने बी.बी.एवं बी.सी.ए.के विद्यार्थियों को कालेज के कार्य प्रक्रिया से अवगत कराया। कार्यक्रम का संचालन शीबा हसन ने किया। इस अवसर पर मनीषा कोरंगा ,पंकज मेहता ,शुभम उप्रेती, काजल जोशी,गणे शबिष्ट , सौरभ कुमार ,वैशाली जोशी ,विनय जोशी,आदि मौजूद थे।