सीएम ने की सहायक अभियोजन अधिकारियों से भेंट, बोले भ्रष्टाचार और माफिया तंत्र पर कराना होगा नियंत्रण

Slider

देहरादून-मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रशिक्षु युवा सहायक अभियोजन अधिकारियों से समाज में अपराध के संगठित एवं बदलते तरीकों के अनुरूप त्वरित ढंग से विवेचना के लिये आधुनिक तकनीकी दक्षता के साथ स्वयं को तैयार रहने को कहा है। उन्होंने कहा कि हमारी देवभूमि की पहचान तभी बनी रह सकती है जब हमारा प्रदेश अपराध मुक्त हो। उन्होंने इसके लिये सभी सम्बन्धित विभागों द्वारा समेकित प्रयासों की भी जरूरत बतायी।

CM Trivendra Mitting Dupty SP

Slider

मुख्यमंत्री आवास में लोक सेवा आयोग के माध्यम से चयनित 23 सहायक अभियोजन अधिकारियों से भेंट के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि आज के युवा अधिकारी आधुनिक शैक्षिक दक्षता से युक्त हैं। उन्हें समाज में बढ़ते परिस्थिति जन्य एवं संगठित अपराधों के तौर तरीकों का मुकाबला करने में अपनी दक्षता एवं सतर्कता के साथ दायित्वों का निर्वहन करना होगा। भ्रष्टाचार मिटाने एवं माफिया तंत्र के नेटवर्क की गतिविधियों पर भी नियंत्रण में मददगार बनना होगा। मुख्यमंत्री ने अभियोजन अधिकारियों से कानूनी कार्यवाही में सरकार का पक्ष मजबूती से रखने की भी अपेक्षा की।

18 डिप्टी एसपी हुए पास आउट

इस अवसर पर निदेशक पुलिस प्रशिक्षण केन्द्र नरेन्द्र नगर मुख्तार मोहसिन ने बताया कि अभियोजन अधिकारियों का यह पहला बेच है जिनकी ट्रेनिंग पीटीसी नरेन्द्र नगर में हो रही है। उन्होंने बताया कि इस वर्ष पीटीसी से 18 डिप्टी एसपी भी पास आउट हो चुके हैं। इस अवसर पर आशीष गुप्ता, देवमणि पाण्डे, उपेन्द्र शर्मा, पूजा देवी, सीमा रानी, मीना खान सहित अन्य प्रशिक्षु अधिकारी आदि मौजूद थे।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें