CORONA VIRUS: क्‍या आप भी हैं इन गलतफहमियों के शिकार ?

कोरोना वायरस से लोग खासा डरे हुए हैं। इससे बचने के लिए लोग बहुत सी सावधानियां बरत रहे हैं। लोग संक्रमण से बचने के लिए हर मुमकिन कोशिश कर रहे हैं। ताकि वे कोरोना वायरस से संक्रमित होने से बच सकें। इन सबके बीच कुछ गलतफहमियां (Misunderstandings) भी लोगों के बीच चल रही हैं।
corona virus

गलतफहमी: कोरोना से बचने के लिए पूरे शरीर पर अल्कोहल (Alcohol) का छिड़काव करें।
सच्चाई: अल्कोहल को हैंड सैनिटाइजर (Hand sanitizer) के तौर पर इस्तेमाल करें। यदि कोरोना वायरस आपके शरीर में प्रवेश कर चुका है तो अल्कोहल के छिड़काव से भी नहीं मरेगा। जबकि अल्कोहल आपके मुंह, आंख, कान, नाक आदि को नुकसान पहुंचा सकता है।

गलतफहमी: गर्म पानी के नहाने से कोरोना वायरस के इंफेक्शन (Infection) से बचा जा सकता है।
सच्चाई: यदि आप गर्म पानी से स्नान करते हैं तो यह जरूरी नहीं कि आप कोरोना वायरस (Corona Virus) से बच पाएंगे। इससे बचने के लिए जरूरी है बार-बार साबुन और पानी से अच्छी तरह हाथ धोएं या हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करें।

गलतफहमी: N95 मास्क (N95 Mask) का यूज सभी को करना चाहिए।
सच्चाई: N95 मास्‍क का यूज़ उन लोगों को करना चाहिए, जिनमें कोरोना वायरस के लक्षण हो। जिससे दूसरों को इंफैक्‍सन न हो या ऐसे हेल्थ केयर वर्कर (Health Care Worker) जो कोरोना वायरस से पीड़ित लोगों के आस-पास काम करते हैं। फिर भी यदि किसी तरह के वायरस से बचने के लिए मास्क का इस्तेमाल करते हैं तो यह भी अच्छा है।

गलतफहमी: कोरोना वायरस पालतू जानवरों से फैल सकता है।
सच्चाई: अभी इस तरह का कोई दावा नहीं किया गया है जिसमें पालतू जानवरों से कोरोना के फैलने के बारे में बताया गया हो। फिर भी अपने पालतू जानवरों को छूने के बाद हाथ अच्छी तरह से धो लेना चाहिए।

गलतफहमी: चीन अथवा दूसरे देश जहां कोरोना वायरस के मामले ज्यादा है वहां की वस्तुएं इस्तेमाल करने से भी कोरोना फैल सकता है।
सच्चाई: डॉक्‍टरों का कहना है की अलग-अलग स्थितियां और तापमान के बीच अलग-अलग जगहों पर ट्रैवल (Travels) करने के बाद भी कोरोना वायरस का जिंदा रहना मुश्किल है। फिर भी ऐसी सावधानियां कर सकते हैं।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें