Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home Chhattisgarh छत्तीसगढ़ में इस गांव में आज भी लोग पीते हैं खेतों में...

छत्तीसगढ़ में इस गांव में आज भी लोग पीते हैं खेतों में जमा गंदा पानी, आज तक नहीं लगा यहां हैंडपंप

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीज जोगी का देहान्त, शोक में डूबी जनता

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीज जोगी का आज कुछ बिमारियों के कारण निधन हो गया है। जानकारी के अनुसार पुर्व मुख्यमंत्री अजीज जोगी का...

छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला-सभी दफ्तर 31 मार्च तक बंद

छत्तीसगढ़ सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने नावेल कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए आगामी 31 मार्च 2020 तक अत्यावश्यक...

BSF Recruitment 2020: सेना में जाने की सोच रहे हैं तो एक बार यहां भी कर लें आवेदन

BSF Recruitment 2020: बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) ने सब इंस्पेक्टर (मास्टर, इंजन ड्राइवर और वर्कशॉप), हेड कांस्टेबल (मास्टर, इंजन ड्राइवर और वर्कशॉप) और सीटी...

जनाब ! यहां तो खुले आसमान के नीचे टार्च की रोशनी में हो रहा पोस्टमार्टम, पुलिस बनी रही मूकदर्शक

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में घायल पहाड़ी कोतबा को एम्बुलेंस न मिलने के कारण 10 किमी. कंधे पर लादकर अस्पताल पहुंचाने के दो दिनों...

छत्तीसगढ़-भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की रेस में डॉ.रमन सिंह, विजय बघेल व विष्णुदेव ….

छत्तीसगढ़ में आपसी गुटबाजी के भंवर में फंसी भाजपा को उबारने की तैयारी शुरू हो चुकी है। भाजपा की कमान आदिवासी नेता के हाथ...
Uttarakhand Government

छत्तीसगढ़ – पेयजल की समस्या को दूर करने के लिए जिला प्रशासन कितने ही दावे कर रहा है, लेकिन अधिकारियों का कहना कि शहर से लेकर गांव तक पेयजल की समस्या दूर कर ली गई है। लेकिन आजादी के इतने साल बाद भी ग्रामीण पीने के पानी के लिए तरस रहे हैं। छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले के ग्रामीण क्षेत्रो में पानी की समस्या इतनी बढ़ गई कि ग्रामीणों को बूंद-बूंद पानी के लिए तरसना पड़ रहा है। यहां केे लोग पिछले कई वर्षों से पेयजल समस्या से जूझ रहे हैं। खडग़वां के गांव जड़हरी में रहने वाले ग्रामीण पीने के पानी लिए 2 किलोमीटर का सफर तय कर पानी लाते हैं। जिला प्रशासन की योजनाएं अभी तक इस गांव तक नहीं पहुंची है।


Uttarakhand Government

kisan

Uttarakhand Government

गंदा पानी पीने को मजबूर ग्रामीण

हालत यह है कि गांव में रहने वाले लोग और मवेशी इन दिनों खेतों का पानी पीने के लिए मजबूर हैं। ग्रामीणों का कहना है कि पेयजल की समस्या दूर करने के लिए अभी तक कोई उपाय नहीं किया गया। आज तक इस गांव में कोई हैंडपंप नहीं लगा। आज भी लोग बारिश में खेतों व गड्ढों में जमा गंदा पानी पीने को मजबूर हैं। यहां के गांव में नल जल योजना का तो पता ही नहीं है। ग्रामीणों का कहना है कि यह समस्या बीते कई वर्षों से है, मगर जिले के आला अधिकारी आज तक इस ओर कोई पहले नहीं किये।

Uttarakhand Government

क्या है महिलाओं का कहना

गांव की महिलाओं की बात करें तो उनका कहना है कि कई बार इसकी शिकायत सरपंच से की। मगर आज तक कोई भी हमारी नहीं सुनता। वहीं गांव के बुजुर्गों के द्वारा बताया गया कि हमारी एक पीढ़ी भी खत्म गई है, मगर आज तक हमारे गांव में हैंडपम्प नहीं लगा। हमें कितनी परेशानी का सामना करना पड़ता है उनको इस बात का एहसास नहीं है।

kisan3

गर्मी और बारिश के मौसम में रहती है ज्यादा परेशानी

उन्होंने बताया कि सबसे ज्यादा दिक्कत गर्मी और बरसात में होती है। जब हमलोग खेत मे जमा पानी पीते हैं और बीमार भी हो जाते है। मगर क्या करें पानी के लिए बिना पानी के कैसे रहे। वही जब इस मुद्दे पर अधिकारियों से जानकारी ली तो उनके द्वारा बताया गया कि सम्बंधित विभाग से जानकारी मांगी गई है और जल्द ही गांव में पानी की व्यवस्था की जाएगी। गांव के बुजुर्गों का कहना है कि हमारी एक पीढ़ी भी खत्म हो गई है, मगर आज तक हमारे गांव में हैंडपम्प नहीं लगा।

Uttarakhand Government

Related News

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीज जोगी का देहान्त, शोक में डूबी जनता

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीज जोगी का आज कुछ बिमारियों के कारण निधन हो गया है। जानकारी के अनुसार पुर्व मुख्यमंत्री अजीज जोगी का...

छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला-सभी दफ्तर 31 मार्च तक बंद

छत्तीसगढ़ सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने नावेल कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए आगामी 31 मार्च 2020 तक अत्यावश्यक...

BSF Recruitment 2020: सेना में जाने की सोच रहे हैं तो एक बार यहां भी कर लें आवेदन

BSF Recruitment 2020: बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) ने सब इंस्पेक्टर (मास्टर, इंजन ड्राइवर और वर्कशॉप), हेड कांस्टेबल (मास्टर, इंजन ड्राइवर और वर्कशॉप) और सीटी...

जनाब ! यहां तो खुले आसमान के नीचे टार्च की रोशनी में हो रहा पोस्टमार्टम, पुलिस बनी रही मूकदर्शक

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में घायल पहाड़ी कोतबा को एम्बुलेंस न मिलने के कारण 10 किमी. कंधे पर लादकर अस्पताल पहुंचाने के दो दिनों...

छत्तीसगढ़-भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की रेस में डॉ.रमन सिंह, विजय बघेल व विष्णुदेव ….

छत्तीसगढ़ में आपसी गुटबाजी के भंवर में फंसी भाजपा को उबारने की तैयारी शुरू हो चुकी है। भाजपा की कमान आदिवासी नेता के हाथ...

छत्तीसगढ़ -अब 10वीं12वीं के छात्र-छात्राओं की 75 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य, नहीं तो परीक्षा से हो सकते हैं वंचित

छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 10वीं व 12वीं बोर्ड की परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के नियम बनाए हैं। स्कूलों में नियमित पढ़ाई...
Uttarakhand Government