inspace haldwani
inspace haldwani
Home Chhattisgarh छत्तीसगढ़ की कई बैंकों में होगी हड़ताल, ट्रेड यूनियन के राष्ट्रव्यापी आंदोलन...

छत्तीसगढ़ की कई बैंकों में होगी हड़ताल, ट्रेड यूनियन के राष्ट्रव्यापी आंदोलन का छत्तीसगढ़ पर भी पड़ेगा असर

शादी की नई गाइडलाइन से लोग परेशान, 100 से अधिक लोगों को भेजा है निमंत्रण, अब कैसे मना करें

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। गोरखपुरःएक बार फिर कोरोना संक्रमण के कारण सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए शादी समारोह में सिर्फ 100 लोगों के...

झंडा दिवस पर पुलिसकर्मियों को दिलाई शपथ

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। एटा। पुलिस झंडा दिवस पर सोमवार को पुलिस लाइंस में कार्यक्रम आयोजित किया गया। क्वार्टर गार्द में पुलिस उपाधीक्षक रामनिवास सिंह...

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीज जोगी का देहान्त, शोक में डूबी जनता

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीज जोगी का आज कुछ बिमारियों के कारण निधन हो गया है। जानकारी के अनुसार पुर्व मुख्यमंत्री अजीज जोगी का...

छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला-सभी दफ्तर 31 मार्च तक बंद

छत्तीसगढ़ सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने नावेल कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए आगामी 31 मार्च 2020 तक अत्यावश्यक...

BSF Recruitment 2020: सेना में जाने की सोच रहे हैं तो एक बार यहां भी कर लें आवेदन

BSF Recruitment 2020: बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) ने सब इंस्पेक्टर (मास्टर, इंजन ड्राइवर और वर्कशॉप), हेड कांस्टेबल (मास्टर, इंजन ड्राइवर और वर्कशॉप) और सीटी...

रायपुर। बैंक कर्मचारियों के कई यूनियनों ने आठ जनवरी को दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनों की ओर से आहूत देशव्यापी हड़ताल में शामिल होने का फैसला किया है। अपने छह सूत्रीय मांगों को लेकर राष्ट्रव्यापी आंदोलन के तहत छत्तीसगढ़ में भी कई बैंक उस दिन बंद रखे जाएंगे। यूं तो बैंक ऑफिशियली खुले रह सकते हैं, लेकिन ज्यादातर बैंकर्स के हड़ताल पर होने के कारण 8 जनवरी को बैंकों में कामकाज प्रभावित होने की संभावना है। सेंट्रल बैंक एम्प्लाइज यूनियन के प्रदेश महासचिव व छत्तीसगढ़ बैंक एम्प्लाइज एसोसिएशन के संगठन सचिव शक्ति सिंह ठाकुर ने बताया कि बीएसएनएल, रेलवे व कुछ अन्य राष्ट्रीय ट्रेड यूनियंस ने भी हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। बैंक की 6 प्रमुख कर्मचारी संगठन इस हड़ताल में शामिल रहेंगे जिनमे मुख्यत: AIBEA, AIBOA, BEFI, INBEF, INBOC, BMS शामिल हैं।

कर्मचारी संगठनों की मांगें निम्न हैं-

  • नई पेंशन स्कीम को बंद कर पुरानी पेंशन स्कीम को लागू करना।
  • समस्त शासकीय व लोकसेवा क्षेत्रों में आउटसोर्सिंग बन्द कर पर्याप्त भर्ती की जाए।
  • कॉर्पोरेट ऋण खातों की वसूली के लिए ठोस कदम उठाए जाएं व सरकारी संरक्षण बन्द किया जाए।
  •  सरकार द्वारा कामगार कानूनों में अनुचित बदलाव को रोका जाए।
  • बैंकों के विलय, व अन्य सेक्टर्स के निजीकरण को तत्काल रोका जाए।
  •  त्वरित व सम्मानजनक वेतन समझौते को जल्द से जल्द लागू किया जाए।

Related News

शादी की नई गाइडलाइन से लोग परेशान, 100 से अधिक लोगों को भेजा है निमंत्रण, अब कैसे मना करें

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। गोरखपुरःएक बार फिर कोरोना संक्रमण के कारण सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए शादी समारोह में सिर्फ 100 लोगों के...

झंडा दिवस पर पुलिसकर्मियों को दिलाई शपथ

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। एटा। पुलिस झंडा दिवस पर सोमवार को पुलिस लाइंस में कार्यक्रम आयोजित किया गया। क्वार्टर गार्द में पुलिस उपाधीक्षक रामनिवास सिंह...

छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री अजीज जोगी का देहान्त, शोक में डूबी जनता

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीज जोगी का आज कुछ बिमारियों के कारण निधन हो गया है। जानकारी के अनुसार पुर्व मुख्यमंत्री अजीज जोगी का...

छत्तीसगढ़ सरकार का बड़ा फैसला-सभी दफ्तर 31 मार्च तक बंद

छत्तीसगढ़ सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने नावेल कोरोना वायरस के संक्रमण से रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए आगामी 31 मार्च 2020 तक अत्यावश्यक...

BSF Recruitment 2020: सेना में जाने की सोच रहे हैं तो एक बार यहां भी कर लें आवेदन

BSF Recruitment 2020: बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) ने सब इंस्पेक्टर (मास्टर, इंजन ड्राइवर और वर्कशॉप), हेड कांस्टेबल (मास्टर, इंजन ड्राइवर और वर्कशॉप) और सीटी...

जनाब ! यहां तो खुले आसमान के नीचे टार्च की रोशनी में हो रहा पोस्टमार्टम, पुलिस बनी रही मूकदर्शक

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में घायल पहाड़ी कोतबा को एम्बुलेंस न मिलने के कारण 10 किमी. कंधे पर लादकर अस्पताल पहुंचाने के दो दिनों...