चन्दौसी- पुलिस इंस्पेक्टर के घर ट्रिपल मर्डर, दो दिन बाद ऐसे हुआ घटना का खुलासा

चन्दौसी-न्यूज टुडे नेटवर्क- यूपी में एक पुलिस इंस्पेक्टर के घर ट्रिपल मर्डर की घटना सामने आयी। चन्दौसी में बेखौफ बदमाशों ने पुलिस इंस्पेक्टर के घर में उनकी पत्नी, छोटे भाई और नौकरानी की हथोड़े से पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी। दो दिन पहले वारदात को अंजाम दिया गया। बेटी का फोन न उठने पर रिश्तेदार घर पहुंचे तब मामले की जानकारी हुई। पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और लूटपाट की वारदात को अंजाम देने के लिए तीनों हत्या करने की आशंका जाहिर कर रहे हैं। आईजी ने एसपी को ट्रिपल मर्डर के जल्द खुलासे के निर्देश दिए हैं। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पत्नी, भाई और नौकरानी की हत्या

बुलंदशहर के जेवर के निकट स्थित गांव महमूदपुर निवासी स्व. सत्यपाल सिंह पुलिस विभाग में इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत थे। सन् 1982 में बीमारी के चलते उनका निधन हो गया। उनकी पत्नी संतोष देवी काफी सालों से चन्दौसी के आजाद रोड पर रह रही थीं। दो दिन से उनके रिश्तेदार उन्हें फोन पर संपर्क कर रहे थे लेकिन, उनका फोन स्विच ऑफ आ रहा था। इसके बाद घबराए लोगों ने चंदौसी में रहे रिश्तेदार को फोन कर संतोष देवी का हाल-चाल जानने के लिए उनके घर भेजा। जब वो घर पहुंचे तो नजारा देखकर उनके होश उड़ गए। बाहर बरामदे में तख्त पर संतोष देवी और पास की चारपाई पर नौकरानी की खून से लथपथ लाश पड़ी थी। दोनों का धारदार हथियार से गला रेता गया था और फिर हथौड़े से वार किया गया था। केशर सिंह का शव बाहर लॉबी में पड़ा था। कमरे की अलमारी खुली थी और सामान बिखरा था।

जांच में जुटी पुलिस

सूचना पाकर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। अपर पुलिस अधीक्षक पंकज पाण्डेय भी पहुंचे। देर रात तक पुलिस मौके पर थी। ट्रिपल मर्डर की तफ्तीश के लिए फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम भी हत्या का सुराग तलाशने के लिए घटना स्थल पर पहुंची और जांच में जुटी। पुलिस को मौके से खून से लथपथ एक हथौड़ा भी मिला है। पुलिस माने तोघटना करीब दो दिन पुरानी लग रही है। मामले की जांच की जा रही है। हत्या की वजह अभी स्पष्ट नहीं है, जल्द ही मामले का खुलासा कर लिया जाएगा।