चम्पावत-यहां जनसुविधा केन्द्र में छपते थे नकली नोट, चार लाख की करेंसी के साथ तीन तस्कर दबोचे

Slider

चम्पावत-जिले में नकली नोट छापने का मामला सामने आया। जिसके बाद पुलिस और एसओजी के होश उड़े गये। इस मामले में टनकपुर पुलिस और एसओजी ने चार लाख की नकदी के साथ तीन तस्‍करों को गिरफ्तार किया है। तीनों एक जनसुविधा केन्‍द्र में नकली नोट छापते थे। पूछताछ में उनकी निशानदेही पर जनसुविधा केन्‍द्र से नोट छापने वाले कागज, प्रिन्टर, लैपटॉप समेत अन्‍य सामान बरामद‍ किया गया। आरोनियों को कोर्ट में पेश करने की तैयारी की जा रही है। जनसुविधा केन्द्र को सील कर दिया गया है।


बताया जा रहा है कि एसओजी टीम और कोतवाली टनकपुर पुलिस ने चेकिंग के दौरान मनिहारगोठ तिराहे पर स्‍पलेंडर से आ रहे तीन लोगों को रोककर पूछताछ की। सही जवाब नहीं देने पर उनकी तलाशी ली गई। इस दौरान उनके पास से तीन लाख नोट बरामद हुई। पुलिस को शक हुआ तो पता चला ये नोट नकली है। जिसके बाद पुलिस ने बृजकिशोर पुत्र नागेश्वर प्रसाद निवासी ग्राम बगनैरा थाना अमरिया पीलीभीत उम्र 29 और रियाज पुत्र मुश्ताक अहमद, बलिया थाना अमरिया पीलीभीत उम्र 27 को टनकपुर को गिरफ्तार कर लिया। तीनों को पुलिस कोतवाली ले आयी।

Slider

पूछताछ में उन्होंने बताया कि वे अपने साथी हरदेव सिंह की बिडौरा मझोला स्थित जन सुविधा केन्द्र एवं फोटो स्टेट की दुकान पर स्कैन कर नोट तैयार करते थे। जिन्हें वह सितारगंज, काशीपुर, बाजपुर देहात क्षेत्र चलाते थे। बाद में जो रुपए मिलते थे उसे बराबर बांट लेते थे। पुलिस ने पूछताछ के बाद बिडौरा मझोला में हरदेव की दुकान पर छापा मारकर हरदेव सिह पुत्र जगजीत सिंह निवासी ग्राम टुकङी थाना नानकमत्ता ऊधसिंहनगर उम्र 29 को गिरफ्तार कर लिया। उसकी दुकान से भी एक लाख नकली करेंसी बरामद हुई है। साथ ही लैपटाप, एक प्रिन्टर, चार्जर, लीड,120 पेज़ जो सादे नोट में प्रयुक्त होने वाले थे, दो मोबाइल बरामद कर केन्‍द्र को सील कर दिया गया है। सभी के खिलाफ टनकपुर में मुकदमा दर्ज किया गया है। तीनों अभियुक्तों को कोर्ट में पेश करने के बाद जेल भेजा जाएगा।

 

उत्तराखंड की बड़ी खबरें