चमोली- माँ ने पुत्री के विवाह में नही परोसने दी शराब, फिर क्या हुआ पढे़ पूरी खबर

Slider

बाजबगड गांव में रहने वाली देवेश्वरी देवी ने अपनी बेटी की शादी दिनांक 28 और 29 फरवरी को जोशीमढ में रहने वाले प्रवीन के साथ तय की थी बेटी की शादी में देवेश्वरी देवी ने शराब का विरोध किया इसके साथ उन्होने शादी में आए सभी लोगों को यह संदेश दिया कि सभी लोग नशे से स्वयं को दूर रखें और इसका बढ़कर विरोध करें उन्होने नशे का विरोध करने हुए अपनी बेटी की शादी में भी शराब का बहिष्कार कर एक मिशाल पैदा की शराब को बंद करने के लिए पिछले साल महिलालाओं ने आंदोलन भी किए थे।

uttarakhand news

Slider

देवेश्वरी देवी ने अपनी बेटी की शादी में शराब न बाटने का फैसला लिया इस फैसले को पूरा करते हुए उन्होने अपनी बेटी की शादी में किसी को भी शराब नही दी। देवेश्वरी देवी के इस शराब विरोधी कार्य में ग्राम प्रधान बीना देवी, समाजसेवी कलावती देवी, पूर्व प्रधान मंजू देवी, महावीर सिंह, सुदर्शन नेगी लखपत सिंहए राजेंद्र सिंह, कुंदन सिंहए धनसिंह, मोहन सिंह सहित समस्त गांव वालों ने साथ दिया। बताया जा रहा है कि यह गांव में पहली शादी है जिसमें शराब का नही बाटी गई और सभी महिलाओं नेे उनके इस कार्य में सहयोग दिया।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें