PMS Group Venture haldwani

CBSC BOARD EXAM 2020: हाथ में घड़ी न बांधें, पारदर्शी मोजे पहनकर आएं

93
Slider

CBSC BOARD EXAM 2020 बरेली: सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं (CBSC Board Exam) 15 फरवरी से शुरू हो रही हैं। परीक्षा को लेकर बोर्ड ने दिशा निर्देश इस संबंध में बैठक की। जिसमें डीपीएस (DPS) प्रिंसिपल ने सभी केंद्र अध्यक्षों और पर्यवेक्षकों को गाइडलाइंस (Guidelines) के बारे में बताया।
Cbse Board exam
उन्होंने बताया कि 16 केंद्रों पर परीक्षा होगी और इसमें दसवीं के 6907 और 12वीं के 5757  स्टूडेंट्स परीक्षा देंगे। डीपीएस के प्रिंसिपल वीके मिश्रा ने कहा कि नए नियमों के तहत परीक्षार्थियों के हाथ पर घड़ी (Watch) बांधने पर भी पाबंदी लगाई जायेगी। अभी तक यह पाबंदी केवल प्रतियोगी परीक्षाओं में ही होती थी।

परीक्षार्थियों को परीक्षा शुरू होने के 10 मिनट पहले तक सेंटर में प्रवेश मिलेगा। परीक्षार्थी में इस बार पारदर्शी मोजे पहनकर जा सकेंगे। परीक्षार्थी एडमिट कार्ड (Admit Card) और पैन लेकर ही परीक्षा केंद्र में आए। प्रैक्‍टिकल एग्जाम की तरह इस बार बोर्ड ने परीक्षा के लिए भी ऑर्ब्‍जवर की टीम नियुक्त करने का फैसला किया गया है। ये टीम निरीक्षण करने परीक्षा केद्रों पर जायेंगी गड़बड़ी मिलने पर इसकी शिकायत तुरंत बोर्ड को दी जाएगी। जिसके बाद कार्रवाई की होगी।

Slider

सभी परीक्षा केंद्रों के अध्यक्षों के मोबाइल को जीरो मैपिंग से जोड़ा जाएगा। मोबाइल को जीरो मैपिंग से 2 घंटे पहले ही  जोड़ दिया जाएगा। इसके बाद सारे परीक्षा केंद्र बोर्ड हेड क्वार्टर से ऑनलाइन जोड़ जाएंगे। इसी के केंद्र अध्यक्ष बोर्ड परीक्षा की सारी जानकारी साझा करेंगे। इससे ही वे बोर्ड को बताएंगे कि कितने बजे प्रश्‍न पत्र खोला गया और कितने बजे उत्तर पुस्तिकाएं दी गई। इस तरह की सारी जानकारियां बोर्ड तक ऑनलाइन ही पहुंचेंगी।

इस बार 16 केंद्रों पर 12 हजार 664 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। इन परीक्षाओं के परीक्षा केंद्र बिशप कॉनराड स्कूल, आर्मी पब्लिक स्कूल, वुडरो स्कूल, राधा माधव पब्लिक स्कूल, सेंट फ्रांसिस कान्वेंट स्कूल, पद्मावती एकेडमी, सेक्रेड पब्लिक स्कूल, मिशन एकेडमी, एसआरएस पब्लिक स्कूल, जिंगलबैल पब्लिक स्कूल, बीबीएल पब्लिक स्कूल, केंद्रीय विद्यालय नंबर 1 व 2 और केंद्रीय विद्यालय इफ्को, केंद्रीय विद्यालय इज्जतनगर और केंद्रीय विद्यालय आईवीआरआई स्‍कूलों को बनाया गया हैं।

हर उत्तराखंडवासी को मिलेगा 5 लाख का मुफ्त इलाज