Career: एक साल का इंटरनेशनल डिप्लोमा बदल सकता है आपकी किस्मत, विदेश में मिलेगी अच्छी नौकरी, सेकेंड ईयर में डायरेक्ट एडमिशन

न्यूज टुडे नेटवर्क टीम।
सात समंदर पार एक शानदार नौकरी और आकर्षक सैलरी पैकेज, आज के दौर में शायद हर पांचवां युवा यही सपना देखता है। कोरोना के कहर से पहले ऐसे सपने देखने और उन्हें पूरा करने के बीच महज एक डिग्री का फासला था। मगर, अब हालात बदल गए हैं। कोरोना के प्रकोप के चलते दुनिया मुश्किलों से जूझ रही है। अमेरिका जैसे बड़े देश भी कोरोनावायरस के आगे धराशाई हो गए हैं। ऐसे में विदेश जाने की तैयारी कर रहे युवाओं को कम से कम एक साल तक इंतजार करना पड़ेगा। यह बात हम ही नहीं कर रहे देश दुनिया के सभी न्यूज़ चैनल, अखबार, स्वास्थ्य विशेषज्ञ और दूसरे जाने-माने लोग भी रहे हैं। मगर, इसका यह मतलब बिल्कुल भी नहीं कि हम हताश होकर बैठ जाएं। कोरोना को हराने के बाद दुनिया में नई संभावनाएं और नए मौकों की बाढ़ सी आएगी। समझदारी इसी में है कि हम आज से ही खुद को उन मौकों के लिए तैयार करना शुरू कर दें।

Students.

कोरोना वायरस के चलते अगर आपको अगले एक साल या कुछ और समय तक भी विदेश जाने का मौका नहीं मिलता तो बिल्कुल भी हताश न हों। खासतौर पर उन युवाओं को तो बिल्कुल भी हिम्मत हारने की जरूरत नहीं है जो आईलेट करने के बाद विदेश जाने की तैयारी कर रहे थे। ऐसे युवा हताश और परेशान होने की बजाय यह सोचें कि इन हालातों में भी उनके लिए कौन-कौन से बेहतर मौके हैं। संभावनाओं को तलाशने और उन पर काम शुरू कर दें जब भी निराशा के बादल छंटेंग तो आपके लिए उम्मीद का नया सवेरा लेकर आएंगे।

अब सवाल यह है कि अगले एक साल का उपयोग कैसे किया जाए तो इसके बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं । आप देश के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या डिग्री कॉलेज से इंटरनेशनल डिप्लोमा कर सकते हैं। कुछ कॉलेज इतने शानदार वह अच्छे डिप्लोमा चला रहे हैं कि उनकी एक साल की पढ़ाई के बाद आपको ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, न्यूजीलैंड जैसे देशों में सेकंड ईयर में डायरेक्ट एडमिशन मिल जाता है। तो ऐसे में सबसे बेहतर यह है कि आप एक वर्ष का डिप्लोमा करके अपना समय और फीस दोनों बचाएं। क्योंकि, भारत में डिप्लोमा कोर्स कम फीस में हो जाता है और वही कोर्स विदेश के किसी कॉलेज यूनिवर्सिटी में जाकर करने के लिए मोटी फीस चुकानी पड़ती है। यही नहीं, विदेश जाने के बाद युवाओं को अपनी पढ़ाई का खर्चा निकालने के लिए नौकरी भी करनी पड़ती है। अगर आपके पास एक साल के डिप्लोमा का अनुभव होगा तो आप को वहां आसानी से अच्छी जॉब और अच्छी सैलरी मिलेगी। इससे आप में आत्मविश्वास आएगा और आप आत्मनिर्भर हो सकेंगे। एक साल का डिप्लोमा कर लेने का फायदा यह भी है कि आप किसी एक विषय या एक क्षेत्र में काफी हद तक ट्रेंड हो जाते हैं। ऐसे में उस क्षेत्र के दूसरे प्रोफेशनल से आपकी मुलाकात होती है और आपके लिए तमाम विकल्प चुनना बेहद आसान हो जाता है। आपकी पीआर अच्छी होती है और आपके पास पढ़ाई के साथ-साथ रोजगार के बेहतर मौके भी लगातार आते रहते हैं।
admisson
न्यूज़ टुडे नेटवर्क का यह सुझाव है कि आप अपना इस साल अपना एक साल अच्छी तैयारियों के नाम करें। आपदा को अवसर में बदलने का संकल्प लें और किसी भी अच्छे कॉलेज में मान्यता प्राप्त इंटरनेशनल डिप्लोमा में एडमिशन ले लें। एक साल बाद आपको एवं महसूस होगा कि आपने कोरोना काल में जो फैसला किया उसने आपकी जिंदगी बदल दी। देश के तमाम कॉलेज और विश्वविद्यालयों में इस तरह के डिप्लोमा कोर्सेज कराए जा रहे हैं। डिप्लोमा में एडमिशन लेने का सबसे अच्छा फायदा यह है कि आपकी अंग्रेजी बहुत बेहतर हो जाती है। इसके साथ ही आपका पर्सनालिटी डेवलपमेंट भी बहुत अच्छा होता है। कॉलेज में लगातार ग्रूमिंग और ग्रुप डिस्कशन की क्लासेस आप में आत्मविश्वास भर देती हैं जो आपको जीवन के किसी भी क्षेत्र में कामयाब बना सकती हैं।

कैसे चुने अपना पाठ्यक्रम
एक साल तक आप क्या चुने या क्या करें यह एक जटिल प्रश्न है। अब उदाहरण के तौर पर आपको अगर हॉस्पिटैलिटी के क्षेत्र में जाने की इच्छा है तो आप किसी भी अच्छे कॉलेज या विश्वविद्यालय से होटल मैनेजमेंट के इंटरनेशनल डिप्लोमा में एडमिशन ले सकते हैं। एक साल के बाद जब इस क्षेत्र में नौकरियों की भरमार होगी तो आपके पास देश और विदेश दोनों जगह काम के तमाम ऑफर होंगे। ऐसे में विदेशी यूनिवर्सिटी में पढ़ाई के लिए एडमिशन लेने के साथ ही आप कहीं भी जॉब करके अच्छे पैसे कमा सकते हैं। यही नहीं, आपकी पढ़ाई पूरी होने के बाद आपको नामी होटल या हॉस्पिटैलिटी सेक्टर के किसी दूसरे संस्थान में बेहद आकर्षक पैकेट पर अच्छी नौकरी आसानी से मिल जाएगी।

इन कालेजों में ले सकते हैं एडमिशन
नारायण कॉलेज, बरेली, उत्तर प्रदेश
विंग एयर होस्टेस एंड हॉस्पिटैलिटी ट्रेनिंग, बड़ौदा, गुजरात
एयर होस्टेस एकेडमी, बंगलुरू, कर्नाटक
यूनिवर्सल एविएशन एकेडमी चेन्नई तमिलनाडु
टीएमआई एकेडमी ऑफ ट्रैवल, टूरिज्म एंड एविएशन, मुंबई, महाराष्ट्र

कॅरियर को लेकर कोई उलझन है तो हमसे पूछें
अगर आपको अपने कॅरियर को लेकर कोई उलझन है। मन में कुछ सवाल हैं जो आपको बेचैन कर रहे हैं तो आप अपने भरोसेमंद न्यूज पोर्टल न्यूज टुडे नेटवर्क की कॅरियर काउंसलिंग टीम से संपर्क कर सकते हैं। हमारी टीम मोबाइल नंबर 8171337773 और 8171427772 पर उपलब्ध है। टीम कॅरियर से जुड़े आपके हर सवाल का जवाब देगी। आप इस नंबर पर सुबह 10 बजे से रात के 10 बजे तक फोन कर सकते हैं। फिलहाल हेल्पलाइन 12 घंटे काम करेगी। छात्र-छात्राओं की कॉलिंग बढ़ने पर इसका वक्त बढ़ाया जा सकता है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें