रामनगर के नहर में ठिकाने लगाई थी दिल्ली के निखत अंसारी की लाश, ऐसे कातिलों तक पहुंची नैनीताल पुलिस

932

रामनगर-विगत 15 जून को रामनगर में नहर में बहती हुई लाश की शिनाख्त हो चुकी है। नैनीताल पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। नन्दपुर के नहर में मिली लाश दिल्ली निवासी निखत अंसारी की है। शिनाख्त के बाद पुलिस भी दंग रह गई। दिल्ली की महिला का शव रामनगर में फेंकना। शिनाख्त संभव नहीं है लेकिन पूरी ने पूरा नेटवर्क तैयार कर आखिर कातिल जीजा तक पहुंच गई। बताया जा रहा है कि विगत 8 जून को निखत अंसारी अपने पति अंकि शर्मा से झगड़ा होने से नाराज थी। जिसके बाद वह दिल्ली से रामनगर चोरपानी अपने जीजा सोनू के पास आ गई। यहां जीजा उसे देह व्यापार के धंधे में भेजना चाहता था। बताया जा रहा है कि जबरन महिला को नशे की दवा खिलाई जाती थी। जब उसने इसका विरोध किया और अपनी मां को सब बता देेने की बात कही तो जीजा ने उसकी हत्या कर दी। महिला की हत्या के मामले में उसके जीजा ओर साले को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी जीजा से महिला के कान के कुंडल व दो अंगूठी ओर हत्या में प्रयुक्त कार भी बरामद की है।

nikhat ansari

पति अंकित ने पहचानी पोस्टर में फोटो

रामनगर में शव मिलने के बाद पुलिस ने सोशल मीडिया के अलावा उत्तराख्ंाड से लगे राज्यों में पोस्टर और नोटिस भेजे। इससे पुलिस को सफलता मिली। विगत 22 जून को अंकित शर्मा निवासी भजनपुरा दिल्ली ने अज्ञात महिला की पहचान जन्नत निखत अंसारी के रूप में की। जिसके बाद इस हत्याकांड की परत खुलनी शुरू हुई। दिल्ली निवासी अंकित ने बताया कि कुछ समय पहले उनका झगड़ा हो गया था जिससे नाराज होकर निखत अपने बहन के घर रहनेे लगी। यहीं से पूरे हत्याकांड का खुलासा हुआ। पत्नी की पहचान कर अंकित ने उसके जीजा के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया। जिसके बाद पुलिस सोनू की तलाश में जुट गई। शनिवार देर रात आरोपी जीजा सोनू व उसके साले गुड्डू को पुलिस ने रामनगर स्थित हनुमान मंदिर से गिरफ्तार किया।

जीजा ने की निखत की हत्या

पूछताछ में आरोपी सोनू ने बताया कि वह देह व्यपार का धंधा करता है। वर्ष 2005 में उसका विवाह हुआ था। इस बीचउसका संपर्क रुखसार उर्फ प्रिया निवासी नूरपुर बिजनौर से हुआ। उसने अपनी पहली बीबी को छोड़ रुखसार से शाीद कर ली। इसके बाद करीब 6 माह पहले रुखसार की छोटी बहन जन्नत उर्फ निखत से उसके संपर्क में आई। 9 मई 2019 से हम दोनों साथ रहने लगे। इसके बाद विगत 14 जून को पिरूमदारा में एक किराये का मकान लेकर उसे रखा। वह उसे जिस्मफरोशी के धंधे में उतराना चाहता था लेकिन उसने इसका विरोध किया। इसी बात को लेकर दोनों को बीच झगड़ा हुआ।

जिस्मफरोशी में उतारना चाहता था जीजा

रात उसने अपनी पहली पत्नी मीना के भाई गुड्डू व निखत के साथ शराब पी। इस दौरान निखत के साथ झगड़ा हुआ। जिससे बाद उसने निखत को पटक दिया। बाद में उसने गुड्डू को बाथरूम में बंद कर दिया तथा बिजली की तार से उसका गला घोंट दिया। इसके बाद दोनों ने शव को कार में रखकर नहर में डाल दिया। इसे बाद भवानीगंज पेट्रोल पंप से पेट्रोल लाकर फिर नहर में पहुंचे और लाश को जला दिया। उसके कान की रिंग व सोनू की अंगूठी निकालकर चोरपानी वाले मकान में रख दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here