iimt haldwani

दावत के बाहने घर बुलाकर दामाद ने ससुर को मार दी गोली, खुद फोन कर पुलिस को दी सूचना , वजह थी ये खास

493

काशीपुर कुंडा थाना क्षेत्र के ग्राम बेलजुड़ी में दामाद की ओर से दी गई दावत में आए ससुर के साथ बातचीज के दौरान विवाद इतना बढ़ गया कि दामाद ने तमंचे से ससुर को गाली मार दी। सुल्तानपुर पट्टी निवासी रईस ने अपनी बेटी रुखसार की शादी कुंडा थाना क्षेत्र के ग्राम बेलजुड़ी निवासी इकरामउद्दीन का निकाह 18 फरवरी को रईस अहमद की पुत्री रुखसार के साथ हुआ था।  ससुर को गंभीर हालत में काशीपुर के राजकीय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया।  इकरामउद्दीन के घर पर पंचायत चल रही थी। इस दौरान दामाद ने ससुर रईस की पीठ में 315 बोर तमंचे से गोली मार दी।

drishti haldwani

ad

विवाद सुलझाने आए थे सास-ससुर

पुलिस के मुताबिक रुखसार ने पति और ससुरालियों पर दहेज के लिए तंग करने का आरोप लगाते हुए मायके वालों से शिकायत की थी। आरोप है कि शादी के बाद से ही इकराम दहेज में बोलेरो गाड़ी लाने के लिए रुखसार पर दबाव बनान लगा, जिसके चलते पति-पत्नी के बीच विवाद चल रहा था। इसी विवाद को सुलझाने के लिए इकराम ने अपने ससुर रईस को दावत के बहाने अपने घर बुला लिया। वहीं दूसरी ओर इकरामउद्दीन की पत्नी पर उसका बड़ा भाई गलत नजर भी रखता था। इसकी शिकायत युवती ने अपने पिता रईस से की। इस मामले को लेकर दामाद ने ससुर को घर पर विवाद सुलझाने के लिए बुलाया था।

as

315 बोर का तमंचा बरामद

रईस अपनी बेटी नाजिमा, बेटा शरीख व गांव के तीन अन्य लोगों के साथ दामाद के घर पहुंचा। मकान की दूसरी मंजिल पर पंचायत के दौरान दामाद ने ससुर के साथ आए लोगों से कुछ गोपनीय बात करने की बात कहकर बाहर जाने को कहा। जैसे ही रईस के साथ आए लोग दूसरी मंजिल से नीचे उतरे तो गोली की आवाज आई। यह सुनकर जब लोग मौके पर पहुंचे तो रईस लहूलुहान पड़ा मिला और उनकी पीठ पर गोली लगी थी। पुलिस ने इकरामउद्दीन व उसकी पत्नी को हिरासत में ले लिया है। मकान में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज भी खंगाली। आरोपित के पास से 315 बोर का एक तमंचा बरामद हुआ है।

images (5)

आरोपित ने पुलिस को फोन कर खुद दी जानकारी

ससुर रईस को गोली मारने के बाद आरोपी इकराम ने खुद पुलिस को घटना के बारे में जानकारी दी। उसने अपने एक परिचित के मोबाइल से कुंडा थाने फोन कर बताया कि उसने अपने ससुर को गोली मार दी है। इसके बाद वह अपने घर में करीब 20 मिनट तक पुलिस के आने का इंतजार करता रहा, जबकि वहां मौजूद दोनों भाई और बहनोई वहां से भाग गए। मौके पर पहुंची पुलिस ने इकराम को हिरासत में ले लिया।