inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश बजट 2021: चमकेगी रामनगरी, अयोध्या को 541 करोड़ का तोहफा

बजट 2021: चमकेगी रामनगरी, अयोध्या को 541 करोड़ का तोहफा

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के बजट में रामनगरी अयोध्‍या को तोहफा मिला है। पांच सौ करोड़ से अयोध्‍या नगरी को चमकाया जाएगा। योगी सरकार ने सोमवार को बजट में अयोध्‍या से जुड़ी परियोजनाओं की घोषणा की है। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने सोमवार को विधानसभा में वित्तीय वर्ष 2021-22 पेश किया। योगी सरकार ने इस बार अपने बजट में धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने पर फोकस किया। इस सत्र का कुल बजट 5 लाख 50 हजार 270 करोड़ (5,50,270.78 करोड़ रुपए) का है।

इसमें से सरकार अयोध्या, वाराणसी, नैमिषारण्य, चित्रकूट और विंध्याचल में सुविधाओं में बढ़ोत्तरी के लिए सरकार करीब 700 करोड़ रुपए खर्च करेगी। 541 करोड़ रु. सिर्फ अयोध्या के विकास पर खर्च किए जाएंगे। वित्त मंत्री ने अयोध्या एयरपोर्ट का नाम ‘भगवान राम’ के नाम पर करने की घोषणा की। इसके अलावा वित्त मंत्री ने प्रदेश की समृद्ध प्राचीन विरासत को वैश्विक पटल पर पहुंचाने के लिए जनजातीय संग्रहालय और महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों की याद में वीथिका संग्रहालय बनाने का ऐलान किया है।

बजट में वित्त मंत्री ने मुख्यमंत्री पर्यटन विकास योजना के लिए 200 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। अयोध्या में पर्यटकों की बढ़ती संख्या को देखते हुए पर्यटन सुविधाओं के विकास और सौंदर्यीकरण के लिए 100 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। श्रद्धालुओं को रामजन्म भूमि तक पहुंचने में सहूलियत हो इसको ध्यान में रखते हुए श्रीराम जन्मभूमि मंदिर से जुड़े संपर्क मार्गों के निर्माण के लिए 300 करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है। निर्माणाधीन मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम एयरपोर्ट के निर्माण के लिए 101 करोड़ रुपए की बजट व्यवस्था प्रस्तावित की है।

प्राचीन सूर्यकुंड मंदिर के विकास सहित अयोध्या शहर के समग्र विकास के लिए 140 करोड़ रुपए का प्रावधान प्रस्तावित है। साथ ही रामायण सर्किट से जुड़े चित्रकूट क्षेत्र में पर्यटन विकास की विभिन्न योजनाओं के लिए 20 करोड़ रुपए का प्रावधान प्रस्तावित किया गया है। इसके अलावा, विंध्याचल शक्ति पीठ और नैमिषारण्य तीर्थ में आधुनिक पर्यटन सुविधाओं के विकास के लिए 30 करोड़ रुपए का प्रावधान है। वहीं पीएम के संसदीय क्षेत्र बाबा विश्वनाथ की नगरी वाराणसी में पर्यटन सुविधाओं के विकास और सौंदर्यीकरण के लिए 100 करोड़ रुपए का प्रावधान रखा गया है।

कला और संस्कृति के संरक्षण की दिशा में दुनिया को प्रदेश की अनमोल धरोहरों को संजोने के उद्देश्य से राजधानी लखनऊ में जनजातीय संग्रहालय के निर्माण के लिए 8 करोड़ रुपए और शाहजहांपुर में स्वतंत्रता संग्राम संग्रहालय के लिए 4 करोड़ रुपए का प्रस्ताव दिया गया है। चौरी-चौरा जन आक्रोश कांड के सौ वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में चौरी चौरा शताब्दी वर्ष पूरे एक वर्ष मनेगा। जिसके लिए 15 करोड़ रुपए की व्यवस्था प्रस्तावित की गई है।

Related News

गोरखपुर: अदालत से पति ने कहा- मेरी शिक्षक पत्नी की डिग्रियां फर्जी, जांच हो

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। पति ने अपनी शिक्षक पत्‍नी की डिग्रियों की जांच कराने की मांग को अदालत में अर्जी दी है। आरोप है कि...

Bareilly Airport को हरा-भरा बनाने के लिए पौधरोपण, ये अफसर रहे मौजूद

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। शुद्ध वातावरण एवं पर्यावरण की रक्षा के लिए बरेली एयरपोर्ट पर भारतीय वमिान प्राधिकरण एवं यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, बरेली...

प्रयागराज: लाठीचार्ज से नाराज नाविकों को मनाने पहुंचे भाजपा के मंत्री और सांसद

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के प्रयागराज में जेसीबी से दर्जनों नावें तोड़ने से नाराज नाबिकों को मनाने के लिए भाजपा के केन्‍द्रीय मंत्री और...

केन्द्रीय मंत्री अठावले ने कहा- मायावती मेरी पार्टी में शामिल हो जाएं मैं उन्हें अध्यक्ष बना दूंगा

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। केन्‍द्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा है कि बसपा प्रमुख मायावती उनकी पार्टी में शामिल हो जाएं तो वो उन्‍हें अध्‍यक्ष...

कानपुर: अंडरवियर खो गया तो सिरफिरे ने रूम पार्टनर को चाकुओं से गोद डाला

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। रूममेट के साथ रह रहे दूसरे पार्टनर ने छोटी सी बात पर अपने साथी रूममेट की चाकू से गोदकर हत्‍या कर...

बदायूं की युवती मुरादाबाद में अपनी ससुराल पहुंची तो मच गया हंगामा, जानिए वजह

न्‍यूज टुडे नेटवर्क, बरेली। शादी का झांसा देकर दुष्‍कर्म के मामले में जेल जाने से बचने के लिए एक मुरादबाद के युवक ने युवती...