बजट 2019 : चुनावी साल में किसानों से लेकर रोजगार,और शिक्षा के क्षेत्रों में कुछ यूं खुला मोदी सरकार का पिटारा

136

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अनुपस्थिति में वित्त मंत्रालय का प्रभार संभाल रहे पीयूष गोयल शुक्रवार को संसद में ‘बंपर बजट’ पेश किया। मोदी सरकार ने अपने बजट में सभी वर्गों को खुश करने का भरसक प्रयास किया। लोकसभा चुनाव से पहले सेमीफाइनल माने गए विधानसभा में कांग्रेस ने जिस कर्जमाफी के ट्रंप कार्ड के जरिए बीजेपी से सत्ता छीनी थी, लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने कांग्रेस के इस ट्रंप कार्ड की काट के लिए किसान कैश कार्ड खेला है। लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मोदी सरकार के अंतिम बजट में देश के 12 करोड़ से अधिक किसानों को हर महीने 500 रुपए नकद देने की योजना लाई गई है। मोदी सरकार ने बजट में सभी वर्गों को खुश करने का भरसक प्रयास किया। बजट से जुड़ी 10 बड़ी घोषणाएं और जानिए किसे मिलेगा क्या फायदा…

budgut3

किसानों के खाते में 6 हजार

02 हेक्टेअर जमीन वाले किसानों के खाते में हर साल सीधे 6 हजार रुपए जाएंगे। किसान सम्मान निधि के लिए 75 हजार करोड़ का आवंटन। इस योजना से 12 करोड़ किसानों को लाभ मिलेगा। यह राशि उन्हें 2,000-2,000 रुपए की तीन किस्तों में दी जाएगी। पहली किस्त अगले महीने की 31 तारीख तक किसानों के खातों में डाल दी जाएगी।

5 लाख तक की आय पर नहीं लगेगा इनकम टैक्स

बजट में सरकार ने 5 लाख तक की आय को पूरी तरह करमुक्त कर दिया। इसके अलावा डेढ़ लाख तक के निवेश पर भी कोई टैक्स नहीं देना होगा। 5 लाख तक की आमदमी पर पहले 13 हजार रुपए टैक्स लगता था। स्टैंडर्ड डिडक्शन छूट को भी 40 हजार से बढ़ाकर 50 हजार रुपए किया गया।

budgr=et

श्रम योगी मानधन योजना की सौगात

पीयूष गोयल ने अपने बजट में मजदूरों और नौकरीपेश वर्ग के लिए कई बड़ी घोषणाएं की। उन्होंने बजट में श्रमयोगी मानधन योजना की घोषणा की। गोयल ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन (पीएमएसवाईएम) की घोषणा करते हुए कहा कि इससे असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ कर्मचारियों को फायदा होगा। यह संभवत: पांच साल में असंगठित क्षेत्र के लिए दुनिया की सबसे बड़ी पेंशन योजना बन जाएगी।

मजदूरों के लिए पेंशन

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने 2019-20 का बजट पेश करते हुए एक बड़ी पेंशन योजना की भी घोषणा की जिसके तहत असंगठित क्षेत्र के कर्मचारियों को हर महीने 3,000 रुपए दिए जाएंगे। जिन कर्मचारियों का पीएफ कटता है ?उनकी मृत्यु पर 6 लाख रुपए मिलेंगे।

महिलाओं को लिए क्या है खास

मोदी सरकार के इस बजट में महिलाओं के लिए भी बहुत कुछ है। अब मातृत्व अवकाश 26 सप्ताह का समय दिया जाएगा और इस दौरान मिलने वाले वेतन पर कोई टैक्स भी मिलेगा।

ग्रैच्युटी की सीमा बढ़ाकर 30 लाख

सरकार ने ग्रैच्युटी की सीमा को 10 लाख रुपए से बढ़ाकर 30 लाख रुपए करने की घोषणा की। इस घोषणा से नौकरी पेशा लोगों को बड़ा फायदा होगा।

budgyt

रक्षा बजट बढ़ाकर 3 लाख करोड़ किया

बजट में रक्षा बजट को बढ़ाकर 3 लाख करोड़ रुपए कर दिया गया है। सैनिकों की वन रैंक वन पेंशन योजना के लिए भी 35 हजार करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं।

महंगाई कम की, योजनाओं पर ज्यादा खर्च

पीयूष गोयल ने पांच साल पहले से मोदी सरकार की तुलना करते हुए कहा कि हमने महंगाई कम की, योजनाओं पर ज्यादा खर्च किया। उन्होंने कहा कि 10 फीसदी से घटाकर हम महंगाई को 4 प्रतिशत पर लाए।

budgt4

1 करोड़ से ज्यादा लोगों ने भरा टैक्स

वित्त मंत्री ने कहा कि नोटबंदी के बाद 1 करोड़ से ज्यादा लोगों ने टैक्स फाइल किया। उन्होंने बताया कि इस दौरान सरकार को 1 करोड़ 36 लाख करोड़ का टैक्स मिला। हमारी सरकार देश से कालेधन को हटाकर ही दम लेगी। जीएसटी से हर राज्य को कर राजस्व में कम से कम 14 प्रतिशत की वृद्धि हुई।

1 लाख डिजिटल गांव

उन्होंने बजट में एक बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि देश में पिछले पांच साल में डेटा इस्तेमाल 50 गुना बढ़ा है। अगले 5 सालों में 1 लाख डिजिटल गांव बनाने की घोषणा की गई। इसकी वजह सस्ता डेटा और कॉलिंग के सुविधा है। उन्होंने कहा कि भारत में दुनिया में सबसे सस्ता डाटा और कॉलिंग सुविधा उपलब्ध है।