Boycott Chinese App: चायनीज एप्स के बैन होने के बाद ये भारतीय एप्‍स तेजी से ले रहे उनकी जगह

भारत सरकार ने हाल ही में 59 चाइनीज एप्स (59 chinese apps) को बैन कर दिया है। देश की सुरक्षा और संप्रभुता के लिए खतरा बताते हुए इन एप को प्रतिबंधित (Restricted) किया गया। बैन किए गए एप्स में टिकटॉक भी शामिल है। भारत में इसके 20 करोड़ से अधिक यूजर्स थे।

social mediaटिकटॉक के बैन होने से भारत के सोशल मीडिया स्पेस (Social media space) में एक खालीपन आया है। जिसे अब भारतीय एप्स (Indian Apps) भरने में जुटे हुए हैं। मित्रों और चिंगारी जैसे एप्स बेहद लोकप्रिय हो रहे हैं और इनके यूजर्स में तेजी से वृद्धि हो रही है।

ये पांच भारतीय एप्स ले रहे टिकटॉक की जगह

चिंगारी (Chingari)
टिकटॉक बैन (Tiktok Ban) होने के बाद चिंगारी की लोकप्रियता काफी बढ़ी है। पिछले कुछ दिनों में इसके डाउनलोड्स में तेजी से वृद्धि हो रही है। पिछले सप्ताह गूगल प्ले स्टोर (Google play store) पर इसके डाउनलोड्स की संख्या 1 करोड़ से पार चली गई। कंपनी जल्द ही इसमें और सुधार करने की कोशिश में है।

मित्रों (Mitron)
यह एप टिकटॉक का सबसे बड़ा विकल्प (option) बन गया है। एक सप्ताह में ही इस एप के यूजर्स की संख्या 1 करोड़ से बढ़कर 1.7 करोड़ हो गई है। इसे 2 करोड़ रुपए का निवेश भी मिला है। फाउंडर्स (Founders) इसके ऑपरेशंस को बढ़ाने की योजना बना रहे हैं।

रोपोसो (Roposo)
मित्रों और चिंगारी प की तरह रोपोसो के यूजर्स में भी में काफी वृद्धि हुई है। 12 भारतीय भाषाओं (12 Indian languages) में उपलब्ध रोपोसो के महज दो दिन में 2.2 करोड़ यूजर्स हो गए हैं।

मोज (Moj)
चाइनीज एप्स के बैन होते ही शेयरचैट ने भारत में मोज एप को लॉन्च किया। इस एप के गूगल प्ले स्टोर पर 50 लाख डाउनलोड्स (50 million downloads) हैं। यह एप 15 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध है।

हिपी (HiPi)
टिकटॉक बैन होने के बाद Zee5 भी टिकटॉक जैसे एप हिपी को लॉन्च करने की तैयारी में है। एप को अभी लॉन्च (Launch) नहीं किया गया है। लेकिन मार्केट में इसकी खूब चर्चा हो रही है।

http://www.narayan98.co.in/

narayan college

https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

उत्तराखंड की बड़ी खबरें