iimt haldwani

हल्द्वानी-(निकाय चुनाव) ना मुझे पब्लिक भूली और ना हम पब्लिक को भूलें- मो. गुफरान

562

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क- निकाय चुनाव को लेकर प्रदेश भर में हलचल मच गई है। सभी पुराने प्रत्याशी और दावेदार अपनी-अपनी तैयारी में जुट गये है। वार्ड नंबर 21 बनभूलपुरा लाइन एक से सात तक के पिछली बार के पार्षद रहे मोहम्मद गुफरान का कहना है कि ना मुझे पब्लिक भूली हैं और ना वह पब्लिक को भूलें है। उन्होंने बताया कि उन्होंने वार्ड में काफी विकास कार्य किये है।। उन्होंने जनता की मुख्य समस्याओं को सुलझाया हैं। उन्होंने जो काम किया हैं वह जनता के सामने है। उसी आधार पर जनता अपने पार्षद का चयन करेंगी। उन्होंने उम्मीद जताई है कि इस बार भी जनता उन्हें समर्थन देगी और उन्हें विजयी बनायेगी।

amarpali haldwani

एक नजर मो. गुफरान के परिचय पर

20 फरवरी वर्ष 1984 में बनभूलपुरा में जन्मे मोहम्मद गुफरान लंबे समय से राजनीति में सक्रिय है। जमजम स्वीट के नाम से उनके पिता हाजी मुस्तकीम की मोहल्ले में एक मिठाई की दुकान है। गुफरान कांग्रेस के सबसे सक्रिय कार्यकर्ताओं में एक माने जाते हैं। मोहम्मद गुफरान ने 10वीं तक की पढ़ाई सेंट पॉल स्कूल से की। राजनीति में दिलचस्पी के चलते वह एनएसयूआई से जुड़ गये। जिसके बाद वह लगातार कांग्रेस में एक सक्रिय कार्यकर्ता के रूप में नजर आये। इसका फल उन्हें कांग्रेस पार्टी ने वर्ष 2012 में विधानसभा युवक कांग्रेस का महासचिव बनाकर दिया। वह जनआंदोलनों में जनता की सेवा को हर समय तैयार रहते है। वर्ष 2013 में हुए निकाय चुनाव में जनता ने उन्हें पार्षद बनाकर उनका सिर ऊंचा कर दिया। उस वक्त उनके विपक्ष में सात उम्मीदवार मैदान में थे लेकिन गुफरान ने इन सबको पछाड़ते हुए विजय पताका लहरा दी।

 

युवा पार्षद बनने पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दी थी बधाई

वर्ष 2013 में हुए निकाय चुनाव में मोहम्मद गुफरान सबसे युवा पार्षद बने थे। उनके सबसे युवा पार्षद बनने पर कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने उन्हें बधाई दी। राहुल उनसे काफी प्रभावित भी हुए। इसके अलावा कांग्रेस पार्टी के कई नेताओं ने उनकी जमकर तारीफ की और उन्हें बधाई दी। वही कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व सीएम हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश, पूर्व मंडी समिति के अध्यक्ष सुमित हृदयेश समेत कई नेताओं के करीबी मानते जाते हैं।

सफाई के लिए खुद उठा लिया झांडू-पंजा

पिछली बार नगर निगम के कर्मचारियों ने जब मोहल्ले में साफ-सफाई नहीं की तो गुफरान ने खुद झांडू-पंजा उठा लिया। और मोहल्ले में सफाई कार्य में जुट गये। उनके इस कार्य से लोग काफी प्रभावित हुए और लोग भी उनका साथ देने के लिए सफाई अभियान में जुट गये। उन्होंने खुद सफाई कर निगम के आइना दिखा दिया। जिसके बाद वह लगातार सुर्खियों में रहे।

पार्षद रहते हुए उनके कार्य

वार्ड नंबर 21 के पार्षद बनते ही सबसे पहले उन्होंने लाइन नंबर एक से सात तक की पेयजल की समस्या को खत्म किया। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हृदयेश से बात कर लाइन नंबर आठ बंजारा में ओवरहेड टैंक और लाइन नंबर एक से सात तक नई पेयजल लाइन बिछाई। इसके बाद गुफरान ने मोहल्ले में सीसी मार्ग निर्माण कराया और सडक़ों का चौकीकरण किया। करीब 350 महिलाओं और पुरुषों की वृद्ध पेंशन लगवाई। वही मुख्यमंत्री राहत कोष से पैसा दिलाकर गरीब घरों कीलड़कियों की शादियां करावाई। साथ ही मोहल्ले भर में 500 स्ट्रीट लाइटें लगवाकर मोहल्ले को प्रकाशमय किया। जिन जगहों पर लो वोल्टेज की समस्या थी, वहां पर नये ट्रांसफार्मर लगवाये। साथ ही स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए लोगों को शौचालय के लिए पैसा दिलाया और ईदगाह में इंटरलॉकिंग टाइल्स बनवाएंगे। जो लोगों के सामने है।

क्या हैं गुफरान का भविष्य प्लान

1-सबसे पहले वह मैन सडक़ों एक से सात नंबर लाइन तक सीवर लाइन नहीं है। उनमें सीवर लाइन डलाने का लक्ष्य।
2-मोहल्ले में कई लोगों के पास राशन कार्ड उपलब्ध नहीं है। उनके राशन कार्ड बनवाना।
3-मोहल्ले में सफाई अभियान चलाकर स्वच्छता बनाये रखना।
4- कैम्प लगाकर लोगों के आधार कार्ड और उनमें आयी त्रुटियों को ठीक कराना।
5-ताज चौराहा मौलाना हकीम उल्लाह के नाम से लाइब्रेरी बनाने का लक्ष्य, जिसमें बच्चों के खेलने के लिए पार्क का बनाने का लक्ष्य।
6-शिक्षा की लिए बच्चों को हो रही दिक्कत को दूर करना। बंजरायन प्राइमरी स्कूल मोहल्ले से चला गया, वापस यही लाने का लक्ष्य।