drishti haldwani

भीमताल-इस निर्दयी पति ने दिया था ट्रिपल मर्डर को अंजाम, ऐसे ठिकाने लगाये पत्नी व दो बेटियों के शव

2420

भीमताल-न्यूज टुडे नेटवर्क- विगत दिनों धारी ब्लॉक के देवनगर में हुए ट्रिपल मर्डर ने क्षेत्र ही नहीं पूरे उत्तराखंड में सनसनी फैला दी थी। एक महिला और उसके दो बेटियों के शव जंगल में मिले थे। जिसके बाद अगले दिन उनकी शिनाख्त हो सकी। वहीं इस हत्याकांड का मुख्य आरोपी महिला के पति को माना जा रहा था। वारदात के बाद वह फरार चल रहा था। जिसके बाद राजस्व पुलिस और सिविल पुलिस उसकी तलाश में जुट गई थी। आज राजस्व उपनिरीक्षक हेम चन्द्र पलडिय़ा की टीम ने देवनगर के जंगलों में हत्यारोपी चन्द्रेशेखर को दबोच लिया। जिसके बाद राजस्व पुलिस के हाथ बड़ी सफलता लगी। इस मामले में जानकारी देते हुए धारी के तहसीलदार नवाजिश खलील ने बताया कि हमारी टीम ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उसे देवनगर से मुख्यालय लाया जा रहा है। इसके बाद आरोपी का मेडिकल कराया जायेगा फिर पूछतछ की जायेंगी। फिलहाल आरोपी राजस्व पुलिस की गिरफ्त में है।

iimt haldwani

मायके वालों दर्ज कराया था मुकदमा

इससे पहले बुधवार को चंद्रशेखर के भाई बंशीधर ने पूरी कहानी राजस्व को पुलिस तहरीर नहीं सौंपी थी। वही चंद्रशेखर के गायब होने से पूरे मामले का रहस्य उलझा हुआ था। तहरीर के आधार पर मृत महिला विमला देवी के पिता मोतीराम ने पति चंद्रशेखर पुत्र बिशन राम, देवर बंशीधर पुत्र बिशन राम और सास पुष्पा देवी पत्‍‌नी बिशन राम के खिलाफ राजस्व पुलिस में हत्या करने का मुकदमा दर्ज कराया है। वही सूत्रों से पता चला था कि चन्द्रशेखर जंगलों में छिपा है। इधर मोतीराम अपनी बेटी विमला और दो नातिनियों उमा और रेनू के हत्यारों को पकडऩे की मांग की थी। मोती राम ने कहा कि चंद्रशेखर हमेशा उनके मारपीट करता था। बंशीधर और सास भी उनके लिए अच्छा व्यवहार नहीं करते थे। इसी के आधार पर उसने उनके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था

अवैध संबंधों के शक में दिया होगा घटना को अंजाम

बता दें कि बुधवार की रात जब पुलिस ने चंद्रशेखर के मोबाइल की लोकेशन पता की तो देर रात तक जंगलियांगाव में मिली। जिसके बाद पुलिस ने वहां दबिश दी लेकिन उसका कही पता नहीं चला। पुलिस लगातार उसकी तलाश में जुटी थी। वहीं विमला देवी, उमा और रेनू का हल्द्वानी में तीन चिकित्सकों के दल ने पोस्टमार्टम किया। मामले में राजस्व पुलिस के अलावा सिविल पुलिस भी मामले पर नजर रखी हुई थी। आखिरकार आज पुलिस ने उसे देवनगर के जंगलों से गिरफ्तार कर लिया। माना जा रहा है कि अवैध संबंधों के शक इस वारदात को अंजाम दिया होगा।