बरेली-ऐसे पौराणिक मंदिरों की आय बढ़ायेगा विकास प्राधिकरण, वातावरण भी होगा शुद्ध

बरेली-बरेली विकास प्राधिकरण ने बरेली विकास क्षेत्र में स्थित पौराणिक नाथ मंदिरों में आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा एवं आध्यात्मिक वातावरण हेतु मंदिर मैनेजमेंट सिस्टम को सुदृढ़ करने की नई पहल की है। इसके तहत मंदिरों में साफ -सफाई एवं मंदिरों की आय को बढ़ाने में सहयोग मिलेगा। बरेली विकास प्राधिकरण ने इस पहल के अंतर्गत बरेली में स्थित नाथ मंदिरों का चयन किया है। प्राधिकरण सर्वप्रथम मंदिरों में नक्षत्र वाटिका को स्थापित करेगा। इन वाटिका में औषधीय पौधे लगाए जाएंगे जिससे वहां का वातावरण शुद्ध हो एवं वहां ऊर्जा का प्रभाव हो सके।

Divya Mittal

बरेली विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष दिव्या मित्तल ने बताया कि इसके साथ-साथ मंदिरों में स्थित गौशालाओं से निकलने वाले गोबर को एक विशेष संयंत्र के माध्यम से लकड़ी का रूप दिया जा सकें। जिसका उपयोग पूजा में प्रयोग करने के साथ-साथ ईंधन के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकें। साथ ही मंदिरों में स्थित जलाशय के पानी को साफ कर आचमन के योग बनाने का कार्य भी शामिल है। साथ ही मंदिर परिसर में पूजा हेतु चढ़ावे की सामग्री जैसे फूल, बेलपत्र अन्य सामग्री के डी कंपोजीशन के लिए बायो डी कंपोस्ट यंत्र लगाने का कार्य भी किया जाएगा।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें