बरेली-भाजपा सरकार में ख़ुद भाजपा विधायक बिजली विभाग के अधिकारियों से पीडि़त, बगैर रिश्वत के कनेक्शन नहीं देते साहब

130

बरेली-न्यूज टुडे नेटवर्क-उत्तर प्रदेश के बरेली शहर में बिजली विभाग में एक भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। इसकी शिकायत विधायक पं. राधा कृष्ण शर्मा ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है। पत्र में विधायक ने साफ लिखा है कि बिजली विभाग में तैनात दो अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त है। हैरानी वाली बात यह है कि भाजपा के शासन काल में अधिकारी भाजपा विधायकों की नहीं सुन रहे है। विधायक ने मुख्यमंत्री योगी से इस मामले में कार्रवाई करने की बात कही है। विधायक ने कहा कि दोनों ही भ्रष्ट अधिकारियों की संपति की जांच कराई जाय। बताया जा रहा है कि ये दोनों अधिकारी लोगों से कटिया डालकर बिजली चोरी करवाते है और उसके अवज में उनसे पैसे लेते है।

दोनों के पास करोड़ों की संपत्ति होने का दावा

विधायक पं. राधा कृष्ण शर्मा ने यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखते हुए कहा कि जिला बरेली उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड में तैनात एलबी सिंह अधीशासी अभियंता विद्युत विद्युत वितरण खंड सेकंड बरेली तथा रंजीत चौधरी अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड 4 बरेली का स्थानान्तरण कर भ्रष्टाचार में लिप्त है। दोनों अधिकारी अपने क्षेत्र में कटिया डालकर बिजली की बड़ी चोरी कराते है। इसके बदेले अवैध रूप से 500 रूपये प्रत्येक माह वसूलते है। उन्होंने लिखा है कि दोनों अधिकारियों ने करोड़ों रुपए की नामी बेनामी संपति बत्ती चोरी कराकर अर्जित कर ली है। अवैध संपत्ति अपने परिवार के सदस्यों अपनी पत्नी व बच्चों के नाम ले रखी है। दोनों अधिकारी जब नौकरी में आए तब इनके पास वह इनके परिवार के पास कितनी संपत्ति थी और अब कितनी संपत्ति है। इस बात की जांच लोकायुक्त या आर्थिक अपराध शाखा से कराने की बात की है।

बगैर रिश्वत के कनेक्शन नहीं देते

उन्होंने कहा कि अगर ये मामला खुला तो यादव सिंह नोएडा अथॉरिटी जैसा भ्रष्टाचार उजागर होगा। विधायक ने साफ कहा है कि दोनों अधिकारी अपने परिवार के सदस्यों के नाम से पावर कारपोरेशन में ठेकेदारी भी करते हैं। जिला बरेली भ्रमण के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनसे ये बात कही। अधिकारियों का व्यवहार पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रति बहुत खराब है। दोनों अधिकारियों द्वारा बिजली का कलेक्शन चाहे पावर का हो या साधारण पैसे लिए बगैर नहीं किया जाता है। जब कोई व्यक्ति इन के भीड़ में कनेक्शन लेने जाता है। कहते है सीधे आकर मिलो फायदे में रहोगे। मेरे यहां सिंगल विंडो सिस्टम है। मुझे रिश्वत दे दो और मैं तुम्हारे सारे काम में ही करा दूंगा। दोनों अधिकारियों का गैर जनपद स्थानांतरण कर उच्च स्तरीय जांच कराकर सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की है।

मैं विधायक को नहीं जानता- चौधरी

इस मामले में रंजीत चौधरी अधिशासी अभियंता विद्युत वितरण खंड 4 बरेली का कहना है कि में विधायक को जानता तक नहीं हूं। हो सकता है उनके किसी ठेकेदार को मैंने काम नहीं दिया हो तभी उन्होंने मेरी शिकायत की है। बताया जा रहा है कि चौधरी ने अपने कार्यालय को एक भव्य रूप दे रखा है। फिलहाल ये तो सब जांच के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा।