inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश BAREILLY: सरकारी क्रय केंद्रों पर गेहूं बेचने से बच रहे किसान, जाने...

BAREILLY: सरकारी क्रय केंद्रों पर गेहूं बेचने से बच रहे किसान, जाने क्या मुख्‍य कारण

कोरोना वैक्सीन प्लांट के दौरे के लिए अहमदाबाद पहुंचे पीएम मोदी, दो शहरों का और करेंगे दौरा, देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना वैक्‍सीन प्‍लांट का निरीक्षण और टीका विकसित करने के कार्यों की समीक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी अहमदाबाद पहुंच...

बरेली: डॉक्टर के घर से ज्वैलरी और नगदी लेकर नौकरानी फरार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के बारादरी इलाके से एक डॉक्टर के घर से नौकरानी ज्वेलरी व नकदी लेकर फरार हो गई। डॉक्टर ने दिल्ली...

बरेली: गैस रिफलिंग के दौरान ईको कार बनी आग का गोला

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के नवाबगंज में ईको गाड़ी में गैस सिलेण्डर से गैस भरते समय गाड़ी ने एकाएक आग पकड़ ली। आग लगने...

यूपी: हाइवे पर घने कोहरे में भिड़े दो ट्रक, चालक घायल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के पीलीभीत में पूरनपूर आसाम हाइवे पर घने कोहरे में दो ट्रकों की भिड़ंत हो गई। हादसे के बाद ट्रक...

सीतापुर: सांसद राजेश वर्मा ने भाजपा स्नातक प्रत्याशी ई० अवनीश कुमार सिंह के लिए किया जनसम्‍पर्क

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सीतापुर जिले के तंबौर मतदान केंद्र पर केपीएस डिग्री कॉलेज में आयोजित मतदाता सम्मेलन में मुख्य अतिथि सीतापुर सांसद एवं प्रदेशअध्यक्ष...

बरेली: किसान सरकारी समर्थन मूल्य (Government support price) पर गेहूं बेचकर मुश्‍किल में फंस गए हैं। लॉकडाउन (Lockdown) में किसानों की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही रही हैं। सरकारी क्रय केंद्रों पर गेंहू बेचनें के बाद किसान अब भुगतान के लिए भटक रहे हैं। समय से भुगतान (payment) न मिलने के कारण किसान अब क्रय केंद्रों से दूरी बना रहे हैं।

gehunगेहूं खरीद के लिए जिले में इस बार 116 क्रय केंद्र बनाए गए हैं। जिसमें खाद्य विभाग पीसीएफ और यूपीएसएस (PCF and UPSS) के 25-25 क्रय केंद्र शामिल हैं। किसानों को क्रय केंद्रों (Purchasing centers) पर गेहूं बेचने के बाद भुगतान के लिए काफी इंतजार करना पड़ता है। इसलिए ज्यादातर किसान क्रय केंद्रों पर गेहूं बेचने बच रहे हैं। जिसके चलते अब तक सिर्फ 4959 किसानों ने अपना गेहूं बेचा है। इनमें भी करीब 6159 लाख रुपए किसानों को भुगतान करना बाकी है।

समय पर भुगतान न होने का सबसे बड़ा कारण पीएफएमएस सिस्टम (PFMS System) की खामियां हैं। जिला खाद्य एवं विपणन अधिकारी सुनील भारती ने बताया कि पीएफएमएस सॉफ्टवेयर (PFMS Software) में शुरुआती कुछ दिक्कतें आईं जन्‍हें अब ठीक कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि पिछले कुछ दिनों में भुगतान प्रक्रिया में तेजी आई है।

Related News

कोरोना वैक्सीन प्लांट के दौरे के लिए अहमदाबाद पहुंचे पीएम मोदी, दो शहरों का और करेंगे दौरा, देखें यह खबर…

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। कोरोना वैक्‍सीन प्‍लांट का निरीक्षण और टीका विकसित करने के कार्यों की समीक्षा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी अहमदाबाद पहुंच...

बरेली: डॉक्टर के घर से ज्वैलरी और नगदी लेकर नौकरानी फरार

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के बारादरी इलाके से एक डॉक्टर के घर से नौकरानी ज्वेलरी व नकदी लेकर फरार हो गई। डॉक्टर ने दिल्ली...

बरेली: गैस रिफलिंग के दौरान ईको कार बनी आग का गोला

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। बरेली के नवाबगंज में ईको गाड़ी में गैस सिलेण्डर से गैस भरते समय गाड़ी ने एकाएक आग पकड़ ली। आग लगने...

यूपी: हाइवे पर घने कोहरे में भिड़े दो ट्रक, चालक घायल

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। यूपी के पीलीभीत में पूरनपूर आसाम हाइवे पर घने कोहरे में दो ट्रकों की भिड़ंत हो गई। हादसे के बाद ट्रक...

सीतापुर: सांसद राजेश वर्मा ने भाजपा स्नातक प्रत्याशी ई० अवनीश कुमार सिंह के लिए किया जनसम्‍पर्क

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। सीतापुर जिले के तंबौर मतदान केंद्र पर केपीएस डिग्री कॉलेज में आयोजित मतदाता सम्मेलन में मुख्य अतिथि सीतापुर सांसद एवं प्रदेशअध्यक्ष...

सीतापुर: कंपोजिट विद्यालय मेंं बच्चो को दी गई यातायात संबंधी जानकारी

न्‍यूज टुडे नेटवर्क। शासन के निर्देशानुसार लोगो को यातायात के बारे मे जागरूक करने के लिए यातायात माह का पखवारा चलाया जा रहा है।...