BAREILLY: रेल कारखाना कर्मचारी डीए कटौती के विरोध में हुए लामबंद, कहा सरकार दे रही है ठेकेदारी प्रथा को बढ़ावा

बरेली: इज्जतनगर पूर्वोत्तर रेलवे कारखाना (Ijjat nagar northeast railway factory) में कर्मचारी महंगाई भत्ता के कटौती को लेकर कारखाना के कर्मचारी नरमू यूनियन के साथ लामबंद हो गए हैं। भारत सरकार (Indian Government) की मजदूर विरोधी नीतियां और लगातार रेल में निजीकरण के विरोध में एकजुट होकर विरोध किए जाने का आवाहन किया। जनवरी में 4 प्रतिशत महंगाई भत्ते (DA) में वृद्धि की गई थी लेकिन वित्त मंत्रालय (Finance Ministry) के आदेश पर 18 महीने तक किसी प्रकार के नए महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी नहीं की जाएगी।

Railway Employeesऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन (All India Railway Men’s Federation) के सचिव शिव गोपाल मिश्रा के आव्हान पर पूरे भारत में रेलवे कर्मचारियों (Railway Employees) द्वारा एक से छह जून तक जन जागरण सप्ताह मनाया जा रहा है। कर्मचारी यूनियन नरमू के केंद्रीय अध्यक्ष बसंत चतुर्वेदी ने कहा कि भारत सरकार लगातार कर्मचारी एवं मजदूर विरोधी नीतियों को लागू कर उनका शोषण कर रही है। संक्रमण (Infection) के समय में सरकारी कर्मचारी बचाव कार्य में बढ़-चढ़कर हाथ बढ़ा रहे हैं। और उनके भत्ते में कटौती किए जाना शोषण के बराबर है। भारत सरकार वर्तमान में जो नीतियां लागू कर रहे हैं, वह पूंजी पतियों एवं ठेकेदारी प्रथा को बढ़ावा दे रही हैं। और इससे लगातार बेरोजगारी बढ़ती जा रही है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें