inspace haldwani
Home उत्तरप्रदेश BAREILLY: पांच साल के सफल प्रयास के बाद आईवीआरआई ने बनाई जानवरों...

BAREILLY: पांच साल के सफल प्रयास के बाद आईवीआरआई ने बनाई जानवरों में फैल रहे वायरस को खत्म करने की वैक्सीन

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी हुई कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर इस तरह से दी जानकारी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Union Minister Smriti Irani) कोरोना संक्रमित पाई गई हैं। उन्होंने खुद ट्वीट (Tweet) कर इस बात की जानकारी दी है।...

Unlock-6: सरकार ने जारी की गाइडलाइन, जानिए क्या खुलेगा क्या नहीं

आगामी 1 नवंबर देशभर में अनलॉक का छठा चरण लागू हो रहा है। इसी के साथ गृह मंत्रालय ने मामूली बदलाव के साथ 1...

निकिता मर्डर केस के आरोपी तौसीफ के परिजनों ने लगाया ओछी राजनीति का आरोप

फरीदाबाद की निकिता मर्डर केस में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) की एसआईटी ने जांच शुरू कर दी है। दोनों आरोपियों तौसीफ और रेहान को...

SC का राज्यों को निर्देश- NCO से चयनित कर्मियों को दिया जाए राशन

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सभी राज्य सरकारों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि कोविड-19 के मद्देनजर राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन...

श्रद्धा कपूर बनने जा रही है इच्छाधारी नागिन, पार्ट्स में रिलीज होगी ये फिल्म

बॉलीवुड (Bollywood) में इच्छाधारी नागिन का चलन बहुत ही पुराना और असरदार साबित होने वाला है। हाल ही में पता चला है कि श्रद्धा...

बरेली: आईवीआरआई के वैज्ञानिकों (IVRI Scientists) ने जानवरों के लिए खतरनाक माने जाने वाले बैक्टीरिया की बीमारी ब्रुसेलोसिस की वैक्सीन (Brucellosis Vaccine) बना ली है। यह नई वैक्सीन अब तक जानवरों को लगाई जाने वाली ब्रुसेल्ला वैक्सीन का अपडेट संस्करण (Update Version) हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह वैक्सीन पुरानी वैक्सीन से काफी कारगर और सुरक्षित है। इस नई वैक्सीन (New Vaccine) को ब्रुसेल्ला अबार्टस एस19 डेल्टा का नाम दिया गया है।

http://www.narayan98.co.in/

Narayan College
https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

ब्रुसेल्ला कि पहले से मौजूद वैक्सीन में खामियों को देखते हुए डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी (Department of Biotechnology) ने आईवीआरआई को पांच साल का प्रोजेक्ट सौंपा था। इसकी कमान आईवीआरआई एनिमल रिप्रोडक्शन विभाग के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. पल्लब चौधरी (Dr. Pranav Chaudhary) को दी गई थी। वैश्विक स्तर पर ब्रुसेल्लोसिस एक प्रमुख जुनोटिक बीमारी है।

इस बीमारी के कारण भारतीय डेयरी उद्योग (Indian Dairy Industry) को पशुओं के बांझपन, गर्भपात और कम उत्पादन की वजह से सालाना 20 हजार करोड़ रुपये का नुकसान होता है। पिछले पांच साल से वैक्सीन का विभिन्न चरणों में ट्रायल किया जा रहा था। वैक्सीन के ट्रायल (Vaccine Trial) के बाद इस तकनीक को अब हरी झंडी मिल गई है। मंगलवार को आईवीआरआई और आईसीएआर (ICAR) के बड़े अधिकारियों ने वैक्सीन निर्माता कंपनी को तकनीक सौंप दी है।

Related News

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी हुई कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर इस तरह से दी जानकारी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Union Minister Smriti Irani) कोरोना संक्रमित पाई गई हैं। उन्होंने खुद ट्वीट (Tweet) कर इस बात की जानकारी दी है।...

Unlock-6: सरकार ने जारी की गाइडलाइन, जानिए क्या खुलेगा क्या नहीं

आगामी 1 नवंबर देशभर में अनलॉक का छठा चरण लागू हो रहा है। इसी के साथ गृह मंत्रालय ने मामूली बदलाव के साथ 1...

निकिता मर्डर केस के आरोपी तौसीफ के परिजनों ने लगाया ओछी राजनीति का आरोप

फरीदाबाद की निकिता मर्डर केस में क्राइम ब्रांच (Crime Branch) की एसआईटी ने जांच शुरू कर दी है। दोनों आरोपियों तौसीफ और रेहान को...

SC का राज्यों को निर्देश- NCO से चयनित कर्मियों को दिया जाए राशन

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने सभी राज्य सरकारों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है कि कोविड-19 के मद्देनजर राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संगठन...

श्रद्धा कपूर बनने जा रही है इच्छाधारी नागिन, पार्ट्स में रिलीज होगी ये फिल्म

बॉलीवुड (Bollywood) में इच्छाधारी नागिन का चलन बहुत ही पुराना और असरदार साबित होने वाला है। हाल ही में पता चला है कि श्रद्धा...

Zoom में आया अब तक का सबसे जरूरी फीचर, जल्द करें एनेबल

किसी आपदा को अवसर में कैसे बदला जाता है इसका एक सबसे बड़ा उदाहरण है ZOOM वीडियो कॉलिंग प्लेटफार्म (video calling platform)। ज़ूम ऐप...