Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश Bareilly: जिले की सफाई के लिए इंदौर नहीं बल्कि इस शहर के...

Bareilly: जिले की सफाई के लिए इंदौर नहीं बल्कि इस शहर के मॉडल पर होगा काम

COVID-19: सारे रिकॉर्ड तोड़ रिकवरी रेट में टॉप पर पहुंचा भारत

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। लेकिन इस संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों के मामलों ने...

रवि किशन के ड्रग्स के स्टेटमेंट को लेकर अनुराग कश्यप ने किया बड़ा खुलासा, रवि किशन को लेकर कही ये बात

संसद के मानसून सत्र (Monsoon Session) में बॉलीवुड में ड्रग्स का मुद्दा उठाया गया था। इस पर रवि किशन (Ravi Kishan) ने कहा था...

एलएसी की स्थिति और तैयारियों की ‘चाइना स्टडी ग्रुप’ ने की समीक्षा, जानिए बैठक में कौन-कौन रहा मौजूद

चीन और भारत (China and India) के लगातार बने तनाव के माहौल के बीच बीच सरकार ने लद्दाख में अभियान का तैयारियों सहित क्षेत्र...

School Reopen: जानिए किन राज्यों में 21 सितंबर से खुलने जा रहे हैं स्कूल

देश के कई राज्यों में 21 सितंबर से स्कूल खुलने जा रहे हैं। केंद्र सरकार (Central Government) की गाइडलाइंस के मुताबिक 21 सितंबर से...

सुशांत सिंह राजपूत की बहन मीतू सिंह ने शेयर की इमोशनल पोस्ट, मां और भाई के लिए कहीं ये बात

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत को तीन महीने हो चुके हैं। इस मामले की जांच सीबीआई, ईडी और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो...

स्वच्छता सर्वेक्षण 2020 (Swachhata Sarvekshan 2020) में बरेली की स्थिति इस बार भी खराब देखने को मिली। इसे देखते हुए अब नगर निगम ने बरेली की सफाई करने के लिए कमर कस ली है। नगर निगम इसके लिए इंदौर का मॉडल नहीं बल्कि अंबिकापुर के मॉडल (Ambikapur model) पर काम करेगा। वजह यह है कि बरेली में अब तक कूड़ा के निस्तारण के लिए प्लांट नहीं बना है और अभी उसके बनने की उम्मीद भी नहीं दिख रही है।
nagar nigam
बता दें कि अंबिकापुर मॉडल की खासियत यह है कि कूड़ा का निस्तारण स्थानीय स्तर पर किया जाता है। उससे न सिर्फ खर्च बचता है बल्कि उससे आमदनी भी होती है। इसके लिए अलग अलग वार्डों में कंपोस्टर (composter) की स्थापना की जाएगी। यह कंपोस्टर करीब ढ़ाई हजार घरों के गीले कूड़े को कंपोस्ट (compost) करेंगे। जिससे बनी हुई खाद को हर आठ दिन में निकालकर उसका उपयोग किया जा सकता है या फिर उसे बेंचा जा सकता है। कूड़े से उपयोगी कबाड़ को निकालने के लिए करीब ढाई सौ कबाड़ी वालों को हायर भी किया जाएगा।

संयुक्त नगर आयुक्त अजीत कुमार सिंह ने कहा कि चार साल पहले तक अंबिकापुर 447 वें नंबर पर था लेकिन तीन साल में यह दूसरा नंबर पर पहुंच गया था। जबकि बरेली की रैकिंग 117 वीं से गिरकर 149 वें नंबर पर आ गई। अभी हमारे पास निस्तारण के लिए प्लांट नहीं है। ऐसे में हम अंबिकापुर मॉडल की कुछ चीजों को लागू करेंगे। वहीं कुछ व्यवस्था सुधारने को हम कुछ चीजे खुद की शुरु करेंगे।
                    http://www.narayan98.co.in/
Narayan College                    https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

Related News

COVID-19: सारे रिकॉर्ड तोड़ रिकवरी रेट में टॉप पर पहुंचा भारत

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। लेकिन इस संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों के मामलों ने...

रवि किशन के ड्रग्स के स्टेटमेंट को लेकर अनुराग कश्यप ने किया बड़ा खुलासा, रवि किशन को लेकर कही ये बात

संसद के मानसून सत्र (Monsoon Session) में बॉलीवुड में ड्रग्स का मुद्दा उठाया गया था। इस पर रवि किशन (Ravi Kishan) ने कहा था...

एलएसी की स्थिति और तैयारियों की ‘चाइना स्टडी ग्रुप’ ने की समीक्षा, जानिए बैठक में कौन-कौन रहा मौजूद

चीन और भारत (China and India) के लगातार बने तनाव के माहौल के बीच बीच सरकार ने लद्दाख में अभियान का तैयारियों सहित क्षेत्र...

School Reopen: जानिए किन राज्यों में 21 सितंबर से खुलने जा रहे हैं स्कूल

देश के कई राज्यों में 21 सितंबर से स्कूल खुलने जा रहे हैं। केंद्र सरकार (Central Government) की गाइडलाइंस के मुताबिक 21 सितंबर से...

सुशांत सिंह राजपूत की बहन मीतू सिंह ने शेयर की इमोशनल पोस्ट, मां और भाई के लिए कहीं ये बात

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत को तीन महीने हो चुके हैं। इस मामले की जांच सीबीआई, ईडी और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो...

यूपीएससी आईईएस, आईएसएस परीक्षा का टाइम टेबल हुआ जारी

यूपीएससी ने इंडियन इकोनामिक सर्विसेज (IES) एग्जामिनेशन और इंडियन स्टैटिसटिकल सर्विसेज (ISS) एग्जामिनेशन 2020 का टाइम टेबल (Time Table) जारी कर दिया है। यह...