Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश BAREILLY: जंक्शन पर समय से पहले पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन, नहीं पहुंच...

BAREILLY: जंक्शन पर समय से पहले पहुंची श्रमिक स्पेशल ट्रेन, नहीं पहुंच पाई डॉक्टर्स की टीम

BAREILLY: स्कूल फीस को लेकर अभिभावक पहुंचे कलेक्ट्रेट और की ये मांग

बरेली: अभिभावक और स्कूल प्रबंधन (School Management) के बीच फीस को लेकर तकरार जारी है। कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के चलते पिछले छह महीने...

रिया और शौविक चक्रवर्ती की जमानत याचिका पर आज नहीं होगी सुनवाई, जानिए कारण

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput) से जुड़े ड्रग्स मामले (Drugs Cases) में रिया चक्रवर्ती की मुश्किलें कम नहीं हो रही है। मंगलवार...

Covid Vaccine: भारत बायोटेक बनाएगी एक अरब कोरोना वैक्सीन

पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी (Corona virus vaccine) से परेशान है। सभी लोगों की आस कोरोना वैक्सीन पर लगी हुई है। इसी बीच कोरोना...

सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता ने शेयर किया फैंस द्वारा भेजे गए मैसेज का वीडियो, और कहीं ये बात

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की बहन श्वेता सिंह कीर्ति (Shweta Singh Kirti) सोशल मीडिया पर लगातार सुशांत के लिए न्याय की मांग...

टाइम मैगज़ीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की सूची, PM मोदी के साथ ये लोग भी हैं शामिल

साल 2020 में दुनिया भर के सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची प्रतिष्ठित मैगजीन 'टाइम' (time magazine) ने जारी कर दी है। टाइस मैग्जीन की...

बरेली: श्रमिकों को दूसरे राज्यों से अपने राज्य लाने के लिए सरकार द्वारा श्रमिक स्पेशल ट्रेन (Shramik Special Train) चलाई गई है। आज ट्रेन राजस्थान के जालौर से 1800 श्रमिकों को लेकर समय से पहले ही बरेली पहुंच गई। डॉक्टर्स की टीम (Doctors Team) के जंक्शन पर न पहुंचने के कारण ट्रेन को बमियाना और रामगंगा स्टेशन पर रोका गया था। नहीं तो ट्रेन अपने समय से 2 घंटे पहले पहुंच ही जाती।
Shramik Special Trainयह ट्रेन 8 बजे बरेली पहुंची, जबकि इस ट्रेन को 8:15 बजे पहुंचना था। इस ट्रेन से 750 श्रमिकों को 45 मिनट के अंदर बरेली जंक्शन (Bareilly Junction) पर उतारा गया। और इसके बाद ट्रेन 9:12 पर गोरखपुर के लिए रवाना हो गई।

जंक्शन पर ट्रेनों के केवल उन्हीं कोचों (coaches) को खोला गया जिनमें बरेली के श्रमिक थे। सभी श्रमिकों की थर्मल स्क्रीनिंग (Thermal Screening) करने के बाद उन्हें बसों में बैठाकर उनके जनपद के लिए रवाना किया गया। इसके लिए रोडवेज की लगभग 30 बसों का इंतजाम किया गया था। जंक्शन की भीड़ में दो बच्चे अपने परिवार से भटक गए। प्रशासन (Administration) की मदद के द्वारा बच्चों को ढूंढा गया। दोनों बच्चों की उम्र पांच वर्ष की थी।

Related News

BAREILLY: स्कूल फीस को लेकर अभिभावक पहुंचे कलेक्ट्रेट और की ये मांग

बरेली: अभिभावक और स्कूल प्रबंधन (School Management) के बीच फीस को लेकर तकरार जारी है। कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के चलते पिछले छह महीने...

रिया और शौविक चक्रवर्ती की जमानत याचिका पर आज नहीं होगी सुनवाई, जानिए कारण

सुशांत सिंह राजपूत केस (Sushant Singh Rajput) से जुड़े ड्रग्स मामले (Drugs Cases) में रिया चक्रवर्ती की मुश्किलें कम नहीं हो रही है। मंगलवार...

Covid Vaccine: भारत बायोटेक बनाएगी एक अरब कोरोना वैक्सीन

पूरी दुनिया कोरोना वायरस महामारी (Corona virus vaccine) से परेशान है। सभी लोगों की आस कोरोना वैक्सीन पर लगी हुई है। इसी बीच कोरोना...

सुशांत सिंह राजपूत की बहन श्वेता ने शेयर किया फैंस द्वारा भेजे गए मैसेज का वीडियो, और कहीं ये बात

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की बहन श्वेता सिंह कीर्ति (Shweta Singh Kirti) सोशल मीडिया पर लगातार सुशांत के लिए न्याय की मांग...

टाइम मैगज़ीन ने जारी की 100 प्रभावशाली लोगों की सूची, PM मोदी के साथ ये लोग भी हैं शामिल

साल 2020 में दुनिया भर के सबसे प्रभावशाली व्यक्तियों की सूची प्रतिष्ठित मैगजीन 'टाइम' (time magazine) ने जारी कर दी है। टाइस मैग्जीन की...

MJPR University: विवि के नए कुलपति आते ही NAAC की निरीक्षण कमेटी में हुए बदलाव

रुहेलखंड विश्वविद्यालय (Rohilkhand University) में नए कुलपति आते ही NAAC के मूल्यांकन की तैयारी तेजी से होने लगी है। कुलपति ने शोध के मामलों...