BAREILLY: अब सीएआरआई का होगा अपना कैंपस, इस रोड से होगी एंट्री

बरेली: केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान (CARI) का 39 साल पुराना सपना पूरा होने वाला है। संस्थान को अप्रैल में अपना नया कैंपस (Campus) मिल जाएगा। यह नया कैंपस 40 एकड़ में बना है इसको करोड़ों की लागत से तैयार किया गया है। इसमें हाईटेक लैब (Hitech Lab), वाईफाई (Wi-Fi) के साथ-साथ कई अन्य सुविधाएं भी है। इसके निमार्ण का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। सीएआरआई में एंट्री डेलापीर एयरफोर्स रोड से आकांक्षा इंक्‍लेव के सामने से होंगी।
cariकेंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान (CARI) काफी लम्‍बे समय से आईवीआरआई (IVRI) के परिसर से  संचालित हो रहा है। इसको संचालित करने के लिए आईवीआरआई ने परिसर में एक भवन दिया था। तब से केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान उसी भवन का से चल रही है। लेकिन आईवीआरआई में 2006 में 40 एकड़ जमीन केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान को कैंपस बनवाने के लिए दे दी थी। इसके बाद सरकार से 40 करोड़ का बजट मिलने के बाद इसका निर्माण 2010-11 में केंद्रीय लोक निर्माण विभाग ने शुरू भी कर दिया था। अब यह कैंपस बनकर तैयार हो गया है।

केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान के कैंपस में 22 कैमरे, हाइटैक लैब, फीड गोदाम, स्लाटर हाउस, टर्की और बेटर फर्म, कॉन्फ्रेंस हॉल, बिजली सब स्टेशन सहित कई अन्य सुविधाएं उपलब्‍ध हैं। इस नए कैंपस में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें