Bareilly: अब बिचौलियों से मिलेगा छुटकारा, सरकार ने शुरु की यह सुविधा

किसानों को बिचौलियों से छुटकारा दिलाने के लिए गेहूं खरीद में पारदर्शिता करने का फैसला लिया है। इसके लिए किसानों को ऑनलाइन पंजीकरण (Online Registration) कराना जरूरी है। पंजीकरण के उपरांत खाद्य विभाग (Food Department) की तरफ से किसानों के मोबाइल नंबर पर ओटीपी (OTP) नंबर आएगा। उस ओटीपी के जरिए किसान क्रय केंद्र पर जाकर अपना गेहूं सीधे बेंच सकेंगे।
gehu ki kharid hui asaanइस बार किसानों की सुविधा के लिए सरकार ने 1 अप्रैल से गेहूं क्रय केंद्र खोलने के निर्देश दिए हैं। मंडी प्रशासन व खाद्य विभाग की ओर से इसकी तैयारी भी शुरू कर दी हैं। किसान अपनी सुविधा अनुसार खाद्य विभाग की वेबसाइट (Website) या जन सुविधा केंद्र से भी इसका पंजीकरण करवा सकते हैं। पंजीकरण के बाद मोबाइल पर ओटीपी नंबर जारी किया जाएगा। इस ओटीपी नंबर के माध्यम से ही क्रय केंद्र पर किसानों की सारी डिटेल आ जाएगी।

ऑनलाइन प्रक्रिया से किसानों को बिचौलियों की दबंगई से राहत मिलेगी। बता दें कि हर बार किसानों के खेत में खड़ी फसल बिचौलिए दबाव बनाकर खरीद लेते थे। इसके बाद बिचौलिए सरकार के क्रय केंद्रों पर गेहूं भेजते नजर आते हैं। इस बार सरकार की ऑनलाइन व्यवस्था के चलते बिचौलिए सरकारी क्रय केंद्र पर गेहूं नहीं भेज सकेंगे। पूरे प्रकरण की शासन स्तर से मॉनिटरिंग (Monitoring) भी की जाएगी।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें