Bareilly: अब तक नहीं मिल पाया किसानों को क्रेडिट कार्ड का लाभ

बरेली:  सरकार (Government) किसानों की आय (Income) बढ़ाने के लिए आर्थिक (Economic) मदद दे रहा है इसी के लिए क्रेडिट कार्ड (Credit Card) की योजना भी चलाई गई है पर किसानों को अभी तक इसका लाभ नहीं मिल पाया है सीडीओ (CDO) ने सभी एसडीएम (SDM) ग्राम पंचायतवार में कैंप (Camp) लगाने के निर्देश भी दिए हैं। अभी जिले में 4 लाख 60 हजार किसान हैं लेकिन लगभग ढ़ाई लाख किसान ऐसे हैं जिन्‍हें अभी तक योजना (Yojana) का लाभ नहीं मिल पाया है।
kisaan credit card
पिछले दिनों हुई समीक्षा बैठक में कमिश्नर रणवीर प्रसाद ने इस पर नाराजगी भी जताई थी। सीडीओ चंद्रमोहन गर्ग ने सभी एसडीएम को ग्राम पंचायतवार कैंप लगाने के निर्देश भी दिए हैं। लेखपालों का ग्राम पंचायत रोस्‍टर तैयार करके कैंप लगवाये जाएंगे। छूटे हुए लाभार्थियों को चुनकर खसरा, खतौनी, फोटो, आधार और बैंक पासबुक लेखपाल लेकर बैंक में जमा करेंगे। और एसडीएम रोज की रिपोर्ट की समीक्षा करके एडीएम शासन को देंगे।

समय पर ऋण चुकाने पर मिलेगा ब्याज
अगर किसान एक साल के अंदर इस ऋण (Loan) को चुका देता है। तो सरकार तीन प्रतिशत ब्याज की सब्सिडी देती है यानी चार प्रतिशत ब्याज ही किसानों को देना पड़ेगा। सरकार गेहूं की एक हेक्‍टेयर फसल के लिए 60 हजार 694 रुपए का ऋण देती है। और धान के लिए इतने ही क्षेत्र पर 71 हजार 643 रुपए देने का नियम है। गन्ने की फसल के लिए दो तरह के नियम है। गन्ने की पौध के लिए एक लाख 23405 रुपए और पेड़ी के लिए एक लाख 7517 रुपए देने का नियम है।

उत्तराखंड की बड़ी खबरें