Uttarakhand Government
Uttarakhand Government
Home उत्तरप्रदेश Banned Apps: चाइनीज मोबाइल ऐप प्रतिबंध होने के बाद एकेटीयू के छात्र...

Banned Apps: चाइनीज मोबाइल ऐप प्रतिबंध होने के बाद एकेटीयू के छात्र तैयार कर रहे विकल्‍प 

Covid-19: झाड़ू लगाने से भी फैलता है कोरोना, AIIMS के डॉक्टर का दावा

देश में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ता जा रहा है। बड़ी सी बीच चौंकाने वाली रिपोर्ट्स भी सामने आ रही हैं। ऐसे में एम्स...

COVID-19: देश में रिकवरी रेट हुआ 80 प्रतिशत से अधिक, एक दिन में ठीक हुए इतने मरीज

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बड़े रहे हैं। पिछले एक दिन में 90 हजार से अधिक...

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी फिर शुरू कर रहा है एमफार्मा, इन विषयों की होगी पढ़ाई

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) के फार्मेसी विभाग को एमफार्मा (M Pharma) पाठ्यक्रम दोबारा शुरू करने की अनुमति मिल गई है। इससे समय से...

COVID-19: देश में कोरोना के नए मामलों में आई कमी, 24 घंटे में सामने आए इतने नए केस

देश में पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के नए मामलों में कमी आई है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के...

यूपी: भू-माफियों से खाली कराई जाएंगी जमीनें, योगी सरकार ने बनाई यह कार्ययोजना

योगी सरकार (Yogi government) एक बार फिर से भू-माफियों के खिलाफ सख्त नजर आ रही है। सरकार ने भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने की...

सरकार ने हाल ही में 59 चाइनीज मोबाइल ऐप (Chinese Mobile App) को प्रतिबंधित किया है। यूजर्स अब इनका विकल्‍प तलाश कर रहे हैं। एकेटीयू (AKTU) के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक का कहना है कि तकनीकी संस्थानों के छात्रों के लिए एक बेहतर अवसर है। वह चाइनीज ऐप का बेहतर व सुरक्षित विकल्प (Better and safer option) तैयार कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि सबसे बेहतर ऐप बनाने वाले छात्रों को विश्वविद्यालय की ओर से पुरस्कृत किया जाएगा।
chines apps
प्रो. पाठक ने बताया कि देश में टिक-टॉक, यूसी ब्राउज़र, शेयर इट, कैम स्कैनर, जैसे कुछ ऐप भारत में काफी लोकप्रिय हैं। एक डेटा के अनुसार इन ऐप के करीब 119 मिलियन यूजर (User) हैं। उन्होंने बताया कि तकनीकी छात्रों (Technical students) को चाहिए कि वह बेहतर और सुरक्षित ऐप तैयार करें। इस तरह की ऐप बनाकर छात्र बेहतर कमाई भी कर सकते हैं। प्रो. पाठक ने कहा कि छात्र इसे एक अवसर की तरह लें। उन्‍होंने बताया कि एकेटीयू की ओर से भी बेहतर ऐप बनाने वाले छात्रों को पुरस्कृत (Rewarded) किया जाएगा।
                    http://www.narayan98.co.in/
Narayan College                    https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

Related News

Covid-19: झाड़ू लगाने से भी फैलता है कोरोना, AIIMS के डॉक्टर का दावा

देश में कोरोना वायरस तेजी से बढ़ता जा रहा है। बड़ी सी बीच चौंकाने वाली रिपोर्ट्स भी सामने आ रही हैं। ऐसे में एम्स...

COVID-19: देश में रिकवरी रेट हुआ 80 प्रतिशत से अधिक, एक दिन में ठीक हुए इतने मरीज

देश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बड़े रहे हैं। पिछले एक दिन में 90 हजार से अधिक...

MJPRU: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी फिर शुरू कर रहा है एमफार्मा, इन विषयों की होगी पढ़ाई

बरेली: रुहेलखंड यूनिवर्सिटी (Rohilkhand University) के फार्मेसी विभाग को एमफार्मा (M Pharma) पाठ्यक्रम दोबारा शुरू करने की अनुमति मिल गई है। इससे समय से...

COVID-19: देश में कोरोना के नए मामलों में आई कमी, 24 घंटे में सामने आए इतने नए केस

देश में पिछले 24 घंटे में आए कोरोना के नए मामलों में कमी आई है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के...

यूपी: भू-माफियों से खाली कराई जाएंगी जमीनें, योगी सरकार ने बनाई यह कार्ययोजना

योगी सरकार (Yogi government) एक बार फिर से भू-माफियों के खिलाफ सख्त नजर आ रही है। सरकार ने भू-माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करने की...

Bareilly: गर्मा गर्मी के बीच आए IMA पदों के नतीजे, देखें कौन बना नया अध्यक्ष

बरेली में आईएमए अध्यक्ष पद के चुनाव (IMA President election) के नतीजे सामने आ गए हैं। पति के लिए त्रिकोणीय मुकाबले में डॉ. विमल...