नैनीताल- कमिश्नर के आते ही कोरोना जांच का बढ़ा दायरा, अब इन जगह पर शुरू होगी जांच

Slider

नवनियुक्त आयुक्त कुमाऊं अरविन्द सिंह हृयांकी ने बुद्धवार को कुमाऊं मण्डल का कार्यभार प्रभारी आयुक्त और जिलाधिकारी उधमसिंहनगर डाॅ. नीरज खैरवाल से कमिश्नरी में ग्रहण किया। जिसके चलते उन्होनें मीडिया के द्वारा लोगों को कोरोना वायरस से बचने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि कोरोना वायरस के कारण आज दुनिया के कई देशों के लोग प्रभावित है। जिस कारण परिथितियां काफी खराब हो चुकि है। इन स्थतियों में हमें अपने नागरिकों को कोरोना के खतरे से बचाना हमारी प्राथमिकता है। इसके साथ ही उन्होने कहा की देश के विभिन्न भागों से प्रवासी आ रहे है हमें उन्हें अपने पारिवार का सदस्य मानते हुए उनके जीवन की रक्षा करते हुए उन्हें व उनके परिवारों की सामाजिक सुरक्षा भी देनी होगी।

कुमाऊं कमिश्नर अरविंद्र हृयांकी
कुमाऊं कमिश्नर अरविंद्र हृयांकी

ताकि प्रवासियों को अपने घर वापसी पर अपनापन महसूस हो सके। इसके लिए वह मण्डल के सभी जिलाधिकारियों से वार्ता कर कार्यवाही करेगें। आयुक्त ने कहा कि मण्डल में कोरोना के सैम्पलों की जांच की गति बढ़ाने के लिए मण्डल में नये जांच केन्द्र खोले जाने की सम्भावनाऐं तलाश की जा रही है। साथ ही कहा कि अभी तक सैम्पलों की जांच केवल राजकीय मेडिकल काॅलेज हल्द्वानी में की जा रही है। तथा जनपद नैनीताल के मुक्तेश्वर, अल्मोड़ा के विवेकानन्द अुनसंधान तथा उधमसिंह नगर के पंतनगर में सैम्पलों की जांच करने के लिए नई प्रयोगाशालाऐं स्थापित करने की दिशा में कार्यवाही चल रही है। बताया कि आज के दौर में हमें कोविड के साथ रहने की आदत डालनी होगी। इसके लिए हमें अपने जीवन में मास्कए सैनेटाइजर एवं सामाजिक दूरी के सिद्धांतों को हर हाल में अपनाना होगा तथा इन चीजों के प्रयोग के लिए हमें अपने जीवन का हिस्सा बनाना होगा। हमारा उद्देश्य अपने को संक्रमण से बचाते हुए लोगों को बचाना चाहिए। हृयांकी ने कहा कि प्रवासियों के आने से पलायन हो चुके लोगों की आमद गाॅवों में बढ़ी है। ऐसे लोगों को विकास की धारा में जोड़ने तथा उनके स्वरोजगार के अवसर दिये जाने के लिए मण्डल के सभी जिलाधिकारियों से बैठक कर रणनीति तैयार की जायेगी । उन्होंने कहा कि भारत सरकार तथा प्रदेश सरकार द्वारा कोविड.19 के संबंध में जो एडवाजरी जारी की जा रही है उनका शतप्रतिशत अनुपालन कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्रवासियों के संस्थागत क्वारंटाइन हेतु जो व्यवस्थाऐं ग्राम पंचायत स्तर पर ग्राम प्रधानों द्वारा की जा रही है उसके धनराशि देवीय आपदा प्रबंधन मद से जिलाधिकारियों द्वारा उपलब्ध कराई जायेगी। ग्राम प्रधान क्वारन्टाइन सेंन्टरों व्यवस्थाओं के लिए ग्राम पंचायत निधि का भी उपयोग कर सकते हैं। आयुक्त ने कहा कि मण्डल में कोरोना के सैम्पलों की जांच की गति बढ़ाने के लिए मण्डल में नये जांच केन्द्र खोले जाने की सम्भावनाऐं तलाश की जा रही है। उन्होंने कहा कि देवीय आपदा के मद्देनजर मानसून सत्र की तैयारियों को लेकर जल्द ही जिलाधिकारियों के साथ बैठक कर रणनीति तय की जायेगी आयुक्त हृयांकी के आगमन पर जिलाधिकारी सविन बंसल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार मीणा ने विगत देर रात स्वागत किया। बुद्धवार को अपर आयुक्त संजय खैरवाल, संयुक्त निदेशक एटीआई नवनीत पाण्डे, उपजिलाधिकारी विनोद कुमार, अधिशासी अधिकारी नगरपालिका अशोक कुमार वर्मा, व्यैक्तित्व अधिकारी हरेन्द्र सिंह गैड़ा के अलावा गोपाल सिंह रावत, कुन्दन सिंह बिष्ट, आनन्द सिंह बिष्ट, दयाकिशन पोखरिया, पूरन मेहरा, जीवन्ती भट्ट, अरविन्द पडियार, विश्वकेतु वेद आदि लोगों ने स्वागत किया।

Slider
उत्तराखंड की बड़ी खबरें