drishti haldwani

अल्मोड़ा- पौने दो लाख की स्मैक बरामद, हल्द्वानी के राजपुरा से जुड़ा है अल्मोड़ा के राजपुरा बड़ा कनेक्शन

1213

अल्मोड़ा-नशे के सौदागार पहाड़ से लेकर मैदान तक अपनी जड़े जमाने में लगे है। लेकिन अल्मोड़ा पुलिस ने तस्करों के मनसूबों पर पानी फेर दिया। आज अल्मोड़ा पुलिस ने 17.40 ग्राम स्मैक के साथ दो युवकों को बेस अस्पताल के तिराहे के पास दबोच लिया। इसके बाद तस्करी की जो परतें खुलकर सामने आयी उससे पुलिस के भी होश उड़ गये। तस्कर हल्द्वानी से स्मैक खरीदकर लाये थे। खरीदा राजपुरा के तस्करों से था। वही राजपुरा जो लंबे समय से स्मैक, सट्टा से अपनी अलग पहचान मना चुका हैं। इससे पहले कई महीनों पहले राजपुरा में किशोर और किशोरी भी स्मैक करते पकड़े गये थे। वहीं हाल ही में पुलिस ने एक तस्कर को पकड़ा था। लेकिन इसके बावजूद राजपुरा तस्करों का बड़ा अड्डा बना है।

iimt haldwani

दो युवक गिरफ्तार

सूचना के आधार पर अल्मोड़ा पुलिस बेस तिराहे पर दो युवकों की चेकिंग की तो पुलिस के होश उड़ गये। उनके पास स्मैक थी। जिसके बाद पुलिस ने दोनों से पूछताछ की तो एक ने अपना नाम सुमित कुमार उम्र 30 वर्ष पुत्र सुनील कुमार निवासी भ्यारखोला अल्मोड़ा बताया जिसके पास से 13.30 ग्राम स्मैक व दूसरे ने अपना नाम मनीष कुमार उम्र 28 वर्ष पुत्र राजेश पंवार निवासी जोशीखोला राजपुरा बताया। जिसके पास से 04.10 ग्राम स्मैक बरामद हुई। पुलिस के अनुसार स्मैक की कीमत लगभग एक लाख चौहत्तर हजार रुपये आंकी गई है। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है आगे की कार्यवाही की जा रही है।

राजपुरा बना स्मैक और सट्टे का अड्डा

दोनों ने पूछताछ में बताया कि वह राजपुरा के लडक़े से स्मैक खरीदकर लाये थे। हल्द्वानी में राजपुरा के लडक़े स्मैक बेचने के लिये बस स्टैंड, टैक्सी स्टैंड व प्रेम टाकीज के पास रात को घूमते रहते है उनसे बातचीत व सौदे बाजी करने के उपरान्त थोड़ी देर में स्मैक लाकर दे देते है। वही से ये दोनों स्मैक खरीदकर लाये थे। बता दें राजपुरा लंबे समय से स्मैक का बड़ा अड्डा रहा है। पुलिस कई तस्करों को पकड़ चुकी हैं। राजपुरा कोतवाली और भोटिया पड़ाव चौकी से महज कुछ दूरी पर है। ऐसे में सवाल उठता है कि इतनी बड़ी मात्रा में राजपुरा में स्मैक का स्टॉक कहा बना रखा है।