PMS Group Venture haldwani

सड़क दुर्घटना में दोस्त की मौत के बाद हिमांचल की बेटी ने किया ये अनोखा अविष्कार, ऐसे देगा मौत को मात

Accident, पहाड़ हो या मैदानी क्षेत्र सड़क पर होने वाले हादसों में आये दिन लोग अपनी जान गवाह रहे है। इन सब को देखते हुए हिमाचल की बेटी ने अपने हुनर का जौहर दिखाया है। सड़क हादसे के लिए जीवनदायनी जैकेट बनाई है। मामला हिमाचल के सुंदरनगर का है। यहां की प्रगति शर्मा ने जो लाइफ सेविंग जैकेट तैयार की है, वह बाइक दुर्घटना होने पर चालकों की जान बचाएगी ऐसा दावा उन्होंने किया है। प्रगति ने यह जैकेट अपने संस्थान के प्रोजेक्ट के दौरान तैयार की है। प्रगति का कहना है कि उनका एक सहपाठी चंडीगढ़ में बाइक दुर्घटना में अपनी जान गंवा बैठा, जिसका उन्हें बहुत दुख हुआ।

Accient Jacket

उसी दिन उन्होंने इस प्रकार की जैकेट तैयार करने का निर्णय लिया। उसके परिणाम स्वरूप उन्होंने अपने प्रोजेक्ट में यह जैकेट तैयार की। प्रगति ने बताया कि तीन महीने के कड़े परिश्रम के बाद इस जैकेट को तैयार किया गया है। प्रगति की इस उपलब्धि से सुंदरनगर और राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान गांधीनगर का नाम पूरे देश भर में रोशन हुआ है और जल्द ही जैकेट के लांच होते ही प्रगति की कामयाबी का डंका पूरे देश के साथ विश्व स्तर पर छाने वाला हैं।

वायु जैकेट दिया नाम

प्रगति शर्मा राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान गांधीनगर, गुजरात में अध्ययन कर रही हैं। इस दौरान उन्होंने यह लाइफ सेविंग जैकेट बनाई इस जैकेट को उन्होंने जीवन सुरक्षा बाइक ‘वायु जैकेट’नाम दिया है। इस जैकेट को बनाने के लिए प्रगति ने संस्थान में प्रथम 5 छात्र-छात्राओं में स्थान पाकर पुरस्कार प्राप्त किया है। यह जैकेट जनकल्याण हेतु न्यूनतम मूल्य पर अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने का प्रयास किया गया है, जिसका लाभ आने वाले समय में अधिक से अधिक लोगों को मिलेगा।

प्रदर्शनी में कपड़ा उद्योग मंत्री स्मृति ईरानी रहेंगी मौजूद

प्रगति ने बताया कि अगस्त में दिल्ली में जैकेट प्रदर्शनी के लिए रखी जाएगी। इस प्रदर्शनी में कपड़ा उद्योग मंत्री स्मृति ईरानी भी मौजूद रहेंगी। प्रगति ने अपनी सफलता का श्रेय माता रजनी शर्मा, पिता सुदेश कुमार शर्मा और भाई प्रशांत के साथ संस्थान के शिक्षकों को दिया है। इधर बेटी की कामयाबी से प्रगति की माता रजनी शर्मा बहुत ख़ुश हैं। बेटी ने अपने दोस्त की मौत के बाद इंसानियत के नाते एक जैकेट तैयार की है।

कोरोना पीड़ित संदिग्ध बोला डॉक्टर साहब मेरी जान बचा लो। देखिये अस्पताल में अंदर फिर क्या हुआ। मॉक ड्रिल अस्पताल की।