AFSPA: केंद्र सरकार ने इस प्रदेश को जाने के लिए घोषित किया अशांत क्षेत्र, AFSPA लागू

वर्तमान समय में नागालैंड (Nagaland) की स्थितियां इतनी परेशान करने वाली है कि आम जनमानस की मदद एवं सुरक्षा के लिए सशस्त्र बलों की सहायता की आवश्यकता पड़ रही है। इसे देखते हुए केंद्र सरकार ने अगले छह महीने के लिए यानि दिसंबर तक पूरे नगालैंड को ‘अशांत क्षेत्र’ घोषित किया है। यह जानकारी गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) ने एक अधिसूचना जारी करते हुए दी है।
afspa in nagaland
बता दें कि पिछले साल नेशनल सोशलिस्ट ऑफ नागालैंड-खापलांग (युंग आंग गुट) ने असम राइफल्स के जवानों के नागालैंड में मोन जिले के पुराने और नये चेनलोइशो गांव के बीच स्थित शिविर पर हमले का प्रयास किया था। जिसे असम राइफल्स के जवानों ने विफल कर दिया। यह हमला 21 अक्टूबर को हुआ था। हमले के बाद रक्षा विभाग के जनसंपर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल सुमित शर्मा ने बयान जारी किया था। जिसमें उन्होंने कहा था एनएससीएन-के (वाईए) के उग्रवादियों द्वारा अंतिम दौर पर चल रही नागा शांति प्रक्रिया को बाधित करने का प्रयास किया गया। यह हमला भारत-म्यांमार सीमा के पास नागालैंड में मोन जिले के चेन क्षेत्र में स्थित शिविर पर तड़के सुबह किया गया।

गृह मंत्रालय ने कहा, ‘इन हालातों को देखते हुए सशस्त्र बल (विशेष शक्तियां) अधिनियम, 1958 (AFSPA) की धारा तीन द्वारा प्रदान की गई शक्तियों का प्रयोग करते हुए केंद्र सरकार ने घोषणा की है कि 30 जून, 2020 से छह महीने की अवधि के लिए पूरे राज्य को ‘अशांत क्षेत्र’ माना जाएगा।’
                          http://www.narayan98.co.in/
narayan college                        https://youtu.be/yEWmOfXJRX8

उत्तराखंड की बड़ी खबरें