iimt haldwani

भारत में एक ऐसी जगह, जहां कुछ भी करने से पहले ब्रिटेन से लेनी पड़ती है इजाजत ! यहां भारत सरकार कुछ भी नहीं कर सकती

240

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : भले ही आपको यह सवाल कुछ अटपटा सा लगे, मगर है सच। आजाद भारत में आज भी कई जगह ऐसी हैं, जहां कुछ भी करने के लिए ब्रिटेन की इजाजत लेनी होती है। दूसरे विश्वयुद्ध के वक्त हुआ कोहिमा युद्ध अपने इतिहास मे एक अलग स्थान रखता है। जिसमे आजाद हिंद फौज के साथ जापान की फौज ने ब्रिटिश सेना पर हमला किया था। बताया जाता है कि इसमे लगभग 2700 ब्रिटिश सैनिकों की मौत हुई थी। जिन लोगों की यहां पर मौत हुई थी उनमे 1420 इसाई और बाकी मुस्लिम थे।

amarpali haldwani

britin1

ब्रिटिश सेना पर हमला

कहा जाता है कि इनमे मरने वालों की संख्या महज 917 थी। बताया जाता है कि जापानी सेना बर्मा से आई थी, जिसने यू आकार में ब्रिटिश सेना पर हमला किया था। बताया जाता है कि उस वक्त दोनों सेनांओं के बीच खतरनाक युद्ध हुआ था। जहां बाद में उनके टेनिस कोर्ट को कब्रगाह का रुप दे दिया गया।

आज भी ब्रिटेन सरकार का कंट्रोल

बर्मा की 14 आर्मी के कमांडर मार्शल सर विलियम स्लिम ने इस जगह के कब्रिस्तान के निरीक्षण का कार्य खुद के पास रखा था। भारत 330 और ब्रिटेन में 1082 कब्रगाह हैं। जहां पर आज भी ब्रिटेन सरकार का कंट्रोल है। ब्रिटिश नेशनल म्यूजियम ने 2013 में बैटल ऑफ कोहिमा-इम्फाल को बड़ी लड़ाई की संज्ञा दी है।

world-war

फोटो खींचने के लिए ब्रिटेन से इजाजत

बता दें कि इन कब्रों की देखभाल ‘कॉमनवेल्थ वॉर ग्रेव कमीशन’ करता है। चौंकाने वाली बात तो यह है कि अगर आप यहा पर फोटो भी लेना चाहते है तो आपको ब्रिटेन सरकार से इजाजत लेनी होगी। इतना ही नहीं कहा जाता है कि अगर आप वहा पर पौधा भी लगाना चाहते है तो आपको ब्रिटेन सरकार से इजाजत लेनी होगी। बता दें कि पिछले वर्ष सडक़ चोड़ी करने के लिए भी ब्रिटेन सरकार से इजाजत ली गई थी। जबकि ये अलग बात है कि ब्रिटेन ने इसकी इजाजत नहीं दी थी।