drishti haldwani

इन कोचिंग संचालकों की लापरवाही दे रही बड़े हादसे को दावत, आंख मूंदें बैठा प्रशासन

160

Coaching centers Haldwani, हल्द्वानी में कई कॉप्लेक्सों में चल रहे कोचिंग सेंटर मौत को दावत दे रहे है। बच्चों की सुरक्षा की परवाह करें बिना ये कोचिंग संचालग दड़ल्ले से बिना अग्निशमन विभाग की एनओसी के अपने संस्थानों को चला रहे है। बता दें हल्द्वानी में ऐसे बिना एनओसी के संचालित किया जा रहे सभी कोंचिग सेंटरों की विभाग द्वारा सूची भी जारी की गई थी। लेकिन सबको मोहलत देकर किसी बड़े हादसे के लिए छोड़ दिया गया। ऐसे में ये कोंचिग मालिक बिना किसी के डर के विभाग के मानकों को ताक पर रखकर अवैध रूप से अपनी संस्था नगर के कई इलाकों में दौड़ा रहे है।

iimt haldwani

किसी के भी खिलाफ नहीं कोई एक्शन

बता दें कि हल्द्वानी में अनेक कोचिंग सेटरों में हजारों बच्चें अनपे भविष्य को सवारने की तैयारी करते है। यहां तक कि पहाड़ के दुर्गम क्षेत्रों से आने वाले बच्चे भी यहां रहकर प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग लेते है। ऐसे में इन कोचिंग सेटरों में इन बच्चों की सुरक्षा राम भरोसे है। कई कोचिंग सेंटर तो कॉलोनियों के बीच में बनी बड़ी-बड़ी बिल्डिंगों में चलाएं जा रहे है। जिनको चलाने के लिए अग्निशमन विभाग की एनओसी तक नहीं ली गई है। विभागीय अधिकारियों की माने तो हल्द्वानी में केवल दो ही कोचिंग संस्थान के पास अग्निशमन विभाग की एनओसी है। जबकि दर्जनों कोचिंग सेंटर अवैध रुप से चल रहे है। बावजूद इसके विभाग ऐसे संस्थानों के खिलाफ कोई भी एक्शन लेने की बजाएं इनको मोहलत प्रदान कर आंख मूंदे बैठा है।