inspace haldwani
inspace haldwani
Home उत्तराखंड हल्द्वानी- मेडिकल कॉलेज के इस विभाग की 9 सीटों को मिली स्थायी...

हल्द्वानी- मेडिकल कॉलेज के इस विभाग की 9 सीटों को मिली स्थायी मान्यता, राज्य को मिलेंगे स्पेसिलिस्ट चिकित्सक

देहरादून – प्रदेश में परवान चढ़ने लगी पिरूल से बिजली बनने की योजना, अब 25 नए प्रोजेक्ट खोलने की तैयारी

देहरादून- प्रदेश में पिरुल से बिजली बनाने की योजना अब परवान चढ़ने लगी है। उत्तराखंड रिनिवेबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी(उरेडा) की इस योजना के तहत...

रुद्रपुर: आखिर राज्यमंत्री को क्यों डाक्टर दंपति का विरोध झेलना पड़ा

रुद्रपुर। नगरीय पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष प्रकाश हर्बोला व उनकी टीम को एक निर्माणाधीन अस्पताल के निरीक्षण के दौरान डाॅक्टर दंपति के विरोध...

देहरादून- युवक ने खुद को मारी गोली, क्षेत्र में मची सनसनी

देहरादून - तिब्बती मार्केट की एक दुकान में व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस इसे हत्या और सुसाइड दोनों तरीके से...

रुद्रपुर: करोड़ों का खेल, मंत्री के जांच के आदेश से होगा अफसरों व ठेकेदार की सांठगांठ का खुलासा

फणींद्र नाथ गुप्ता रुद्रपुर। जिला पंचायत के लदान ढुलान ठेकेदार के जिला पंचायत को 2.22 करोड़ रुपए की आर्थिक क्षति पहुंचाने के प्रकरण में पंचायतीराज...

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

राजकीय मेडिकल कॉलेज में जनरल मेडिसिन विभाग में संचालित पोस्ट ग्रेजुएशन की 9 सीटों को पाँच साल के लिए स्थायी मान्यता दे दी गई है। इससे पहले भी 3 सीटों में स्थायी मान्यता दी जा चुकी हैं। बता दें कि वर्ष 2017 में जनरल मेडिसिन विभाग में एम.सी.आई द्वारा पोस्ट ग्रेजुएशन की 9 सीटों को तीन साल के लिए स्वीकृत किया गया था। जिसके बाद दोबारा निरीक्षण कर उक्त पी.जी सीटों को पांच वर्ष के लिए स्थायी मान्यता जारी की गयीं है।

जिसके बाद अब जनरल मेडिसिन विभाग में पोस्ट ग्रेजुएशन की कुल 12 सीटों में स्थायी मान्यता प्राप्त हो गयी हैं। इसके अतिरिक्त कान व गला विभाग की 2 सीटों में भी स्थायी मान्यता दे दी गयी हैं। पैथोलॉजी विभाग की 3 पी.जी सीटों और नाक, कान व गला की 2 सीटों के लिए कुछ बिंदुओं में आपत्ति की गई हैं। जिनपर पुनह निरीक्षण किये जाने को कहा गया हैं।

राज्य को मिलेंगे स्पेसिलिस्ट चिकित्सक

मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सी.पी भैसोड़ा ने कहा कि राजकीय मेडिकल कॉलेज में संचालित पी0जी0 की सीटों को स्थायी मान्यता मिलने से राज्य को स्पेसिलिस्ट चिकित्सक मिलेंगे। जो राज्य के दुरस्त छेत्रों में जाकर अपनी सेवाएं देंगे। उत्तराखंड के उन मेडिकल छात्रों के लिए भी बहुत खुशी की बात हैं जो एम. डी / एम. एस की तैयारी कर रहे हैं।

मेडिकल कॉलेज के विभिन्न विभागों में पी.जी की सीटों में स्थायी मान्यता मिलने में प्रत्येक संकाय सदस्य, नर्सिंग स्टाफ , पैरामेडिकल स्टाफ , कर्मचारी, चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी समस्त का महत्वपूर्ण योगदान हैं। उनकी माने तो जिन विभागों की सीटों में थोड़ी कमियां हैं उनको जल्द पूरा करके एम.सी.आई को निरीक्षण के लिए जल्दी ही आवेदन किया जाएगा।

Related News

देहरादून – प्रदेश में परवान चढ़ने लगी पिरूल से बिजली बनने की योजना, अब 25 नए प्रोजेक्ट खोलने की तैयारी

देहरादून- प्रदेश में पिरुल से बिजली बनाने की योजना अब परवान चढ़ने लगी है। उत्तराखंड रिनिवेबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी(उरेडा) की इस योजना के तहत...

रुद्रपुर: आखिर राज्यमंत्री को क्यों डाक्टर दंपति का विरोध झेलना पड़ा

रुद्रपुर। नगरीय पर्यावरण संरक्षण परिषद के उपाध्यक्ष प्रकाश हर्बोला व उनकी टीम को एक निर्माणाधीन अस्पताल के निरीक्षण के दौरान डाॅक्टर दंपति के विरोध...

देहरादून- युवक ने खुद को मारी गोली, क्षेत्र में मची सनसनी

देहरादून - तिब्बती मार्केट की एक दुकान में व्यक्ति की गोली लगने से मौत हो गई। पुलिस इसे हत्या और सुसाइड दोनों तरीके से...

रुद्रपुर: करोड़ों का खेल, मंत्री के जांच के आदेश से होगा अफसरों व ठेकेदार की सांठगांठ का खुलासा

फणींद्र नाथ गुप्ता रुद्रपुर। जिला पंचायत के लदान ढुलान ठेकेदार के जिला पंचायत को 2.22 करोड़ रुपए की आर्थिक क्षति पहुंचाने के प्रकरण में पंचायतीराज...

देहरादून- सरकार के इस फैसले से उत्तराखंड पुलिस के खिल जाएंगे चेहरे, होगा ये फायदा

शासन ने उत्तराखंड पुलिस के कर्मचारियों को छठे वेतनमान की सिफारिशों के तहत उच्चीकृत वेतन ग्रेड पर एरियर की सौगात दे दी है। हाईकोर्ट...

पिथौरागढ़- भारत से पेंशन लेकर लौट रहे 5 नेपाली पेंशनरों को मिली दर्दनाक मौत, ऐसे हुआ पूरा हादसा

भारत से पेंशन लेकर जा रहे नेपाली पेंशनरों की एक जीप नेपाल में झूलाघाट से करीब सात किमी दूर सड़क से पलटकर डेढ़ सौ...